उद्धव ठाकरे को मिला BJP की मंत्री उमा भारती का साथ, कहा, 'सभी के हैं भगवान राम'

उन्होंने कहा कि बीजेपी का राम मंदिर के मुद्दे पर पेटेंट नहीं है. भगवान राम सभी के हैं. मैं एसपी, बीएसपी, अकाली दल, ओवैसी और आजम खान से अपील करती हूं कि वे राम मंदिर के निर्माण में मदद के लिए आगे आएं. 

उद्धव ठाकरे को मिला BJP की मंत्री उमा भारती का साथ, कहा, 'सभी के हैं भगवान राम'
फाइल फोटो

अयोध्‍या: राम मंदिर निर्माण को लेकर राजनीति तेज हो चली है. 24 नवंबर को शिवसेना और 25 नवंबर को विहिप ने धर्मसभा का आयोजन किया. शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने अयोध्या में कहा था कि भगवान राम सिर्फ बीजेपी के नहीं हैं. उद्धव ठाकरे के इस बयान पर अब उन्हें बीजेपी की केंद्रीय मंत्री उमा भारती का साथ मिल गया है. उमा भारती ने कहा कि उद्धव ठाकरे के इस कोशिश के लिए हम उनकी सराहना करते हैं. राम मंदिर पर सिर्फ बीजेपी का पेटेंट नहीं है. इस दौरान उन्होंने राम मंदिर बनवाने के लिए आजम खान और ओवैसी से भी मदद का आह्वान किया. 

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि हां, मैं उद्धव ठाकरे के प्रयास के लिए उनकी सराहना करती हूं. बीजेपी का राम मंदिर के मुद्दे पर पेटेंट नहीं है. उन्होंने कहा कि भगवान राम सभी के हैं. मैं एसपी, बीएसपी, अकाली दल, ओवैसी और आजम खान से अपील करती हूं कि वे राम मंदिर के निर्माण में मदद के लिए आगे आएं. 

आपको बता दें कि उद्धव ठाकरे ने रविवार (25 नवंबर) को बीजेपी की केंद्र सरकार को एक तरह का कुंभकर्ण बताया. राम मंदिर पर चार साल से नींद में रहने का आरोप लगाया. उन्होंने राम जन्मभूमि को लेकर अध्यादेश लाने पर शिवसेना के समर्थन की बात करके बीजेपी को राम मंदिर निर्माण के कानूनी विकल्पों पर विचार के लिए मजबूर करने की कोशिश की है. 

उद्धव ठाकरे अपने सैकड़ों शिवसैनिकों के साथ 24 नवंबर को अयोध्या पहुंचे. उन्होंने सरकार से राम मंदिर निर्माण की तारीख बताने के लिए भी कहा है. उन्होंने 56 इंच के सीने के बजाय दिल में मंदिर के लिए मजबूती की बात करके पीएम मोदी की घेराबंदी की है. ठाकरे ने कहा कि अगर राम मंदिर का मामला अदालत के पास ही जाना है, तो चुनाव के वक्त उसे इस्तेमाल न करें. साथ ही जनता से माफी मांगते हुए बताएं कि राम मंदिर निर्माण का वादा भी एक जुमला था.

उन्होंने कहा कि बीजेपी हिंदुओं की भावनाओं के साथ खिलावाड़ न करे, बस यही बात कहने मैं यहां आया हूं. सीएम योगी को भी निशाने पर लेते हुए उद्धव ने कहा कि मैंने सीएम योगी को कई बार यह कहते सुना था कि मंदिर था, है और रहेगा. ये तो हमारी धारणा है, हमारी भावना है. लेकिन दुख इस बात है कि वो दिख नहीं रहा. उन्होंने यूपी सरकार से सवाल किया कि आखिर वह मंदिर दिखेगा कब?

अयोध्या पहुंचे उद्धव ठाकरे ने संतों द्वारा किए गए स्वागत के लिए उनका शुक्रिया अदा किया. उन्होंने कहा कि यहां आने के पीछे उनका कोई छिपा हुआ एजेंडा नहीं था. शिवसेना अध्यक्ष ने कहा कि मैं यहां सिर्फ उन भावनाओं को जाहिर करने आया था, जो राम मंदिर को लेकर देश और दुनिया भर के हिंदुओं के अंदर है. उन्होंने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा था कि मंदिर नहीं बना सकते तो हमसे कहो कि नहीं हो पाएगा। चुनाव के समय मंदिर का मुद्दा नहीं उठाओ.