धर्म परिवर्तन के मास्टरमाइंड उमर और जहांगीर को कोर्ट ने 3 जुलाई तक ज्यूडिशियल कस्टडी में भेजा

एटीएस ने दोनों की कस्टडी रिमांड के लिए अर्जी दी थी, जिसपर आज सुनवाई होनी है. एटीएस ने कल ही दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया था. कोर्ट ने इन्हें 3 जुलाई तक ज्यूडिशियल कस्टडी में जेल भेजा है. 

धर्म परिवर्तन के मास्टरमाइंड उमर और जहांगीर को कोर्ट ने 3 जुलाई तक ज्यूडिशियल कस्टडी में भेजा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में जबरदस्ती धर्म बदलने की शिकायत पर यूपी पुलिस और एटीएस (एंटी टेरेरिस्ट स्क्वॉड) एक्टिव हो गई थी. अब UPATS को इस मामले में बड़ी कामयाबी मिली है. एटीएस ने जबरन धर्म परिवर्तन करने वाले एक गिरोह को दबोच लिया है, जो गलत तरीके से लोगों को मुस्लिम बनने पर मजबूर करते थे. इस आरोप में 2 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है. जिन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उनके नाम उमर गौतम और मुफ्ती जहांगीर हैं. ये दोनों ही दिल्ली के जामियानगर के निवासी हैं.

श्याम गौतम इस्लाम से जुड़ी 40-50 किताबें पढ़ धर्मांतरण गैंग का 'मास्टरमाइंड' मो. उमर बन गया

ट्रेनिंग करने आए बच्चों को बनाया निशाना
एटीएस लखनऊ ने जानकारी दी है कि जब इस मामले में जांच की गई तो पाया गया कि नोएडा सेक्टर-117 में नोएडा डेफ सोसायटी के एक केंद्र में कुछ लोगों द्वारा यह कार्य किया जा रहा था. यहां ट्रेनिंग करने आए बच्चों को भी निशाना बनाकर जबरदस्ती उनका धर्म परिवर्तन कराया गया है. ऐसी 2-3 शिकायतें मिली हैं, जिनकी अब जांच हो रही है. इस केंद्र के खिलाफ नोएडा पुलिस को अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली थी.

अब्दुल समद सैफी केस: ट्विटर के जवाब से असंतुष्ट गाजियाबाद पुलिस ने भेजा दूसरा नोटिस

खुद धर्म बदल कर मुस्लिम बना अब चला रहा अवैध अभियान
बता दें, एटीएस ने दोनों की कस्टडी रिमांड के लिए अर्जी दी थी, जिसपर आज सुनवाई होनी है. एटीएस ने कल ही दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया था. कोर्ट ने इन्हें 3 जुलाई तक ज्यूडिशियल कस्टडी में जेल भेजा है. बताया जा रहा है कि ये दोनों आरोपी लोगों के साथ जबरदस्ती कर उन्हें हिंदू से मुस्लिम बनाते थे. इनमें से एक उमर गौतम है, जो खुद पहले हिंदू था और धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम बन गया था. अब वह धर्मांतरण अभियान चला कर अवैध तरीके से और लोगों को भी इसमें शामिल कर रहा है.

चालीस साल साथ रहने के बाद ओल्ड एज कपल ने धूमधाम से रचाई शादी, बेटे-बहुएं-पोते बने बाराती

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI करती है मदद
1000 लोगों का कर चुके हैं धर्म परिवर्तन एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने जानकारी दी थी कि दोनों आरोपियों ने मिलकर तकरीबन एक हजार लोगों का धर्म बदलवाया है. इसमें पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI उनका साथ दे रही थी. उनसे फंडिंग लेकर ही दोनों यह काम करते थे. आरोपियों ने एटीएस के सामने खुद यह बात स्वीकारी है.

एके शर्मा के पत्र ने यूपी चुनाव और CM योगी को लेकर लगाई जा रही अटकलों पर लगाया विराम

कई धाराओं में केस दर्ज
बता दें, ये आरोपी मथुरा, वाराणसी समेत प्रदेश के कई जिलों में अवैध रूप से धर्म परिवर्तन करवाने का काम कर चुके हैं. उन्होंने ये बात भी कबूल की है कि कई बार मूक-बाधिर महिलाओं की शादी कराकर उनका भी धर्म बदलवाया गया है. ऐसे में आरोपी जहांगीर नोएडा में एक मूक बाधिर स्कूल चलाता था, जहां करीब वह 18 बच्चों का धर्म बदलवा चुका है. यह भी बता दें, कि दोनों आरोपियों पर लखनऊ में अलग- अलग धाराओं में कई केस दर्ज किए गए हैं. 

 WATCH LIVE TV