नौकरी गई तो जिस कंपनी में करता था काम, उसी में करने लगा चोरी, ऐसे हुआ खुलासा

उत्तर प्रदेश में चोरी का एक अनोखा मामला सामने आया है. यहां पर एक एक युवक नौकरी से निकाले जाने के बाद उसी कंपनी के महंगे-महंगे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण चुराने लगा. हालांकि चोरी का यह सिलसिला ज्यादा दिनों तक नहीं चल सका.

नौकरी गई तो जिस कंपनी में करता था काम, उसी में करने लगा चोरी, ऐसे हुआ खुलासा
इमेज क्रेडिट (फेसबुक)

कानपुर: उत्तर प्रदेश में चोरी का एक अनोखा मामला सामने आया है. यहां पर एक एक युवक नौकरी से निकाले जाने के बाद उसी कंपनी के महंगे-महंगे इलेक्ट्रॉनिक उपकरण चुराने लगा. हालांकि चोरी का यह सिलसिला ज्यादा दिनों तक नहीं चल सका. कंपनी के टेक्नीशियन की शिकायत पर पुलिस ने चोर को पकड़ लिया है. 

टावरों से अचानक से गायब होने लगे मदर बोर्ड 
दरअसल, जिले के रतनपुर कॉलोनी निवासी अभिषेक द्विवेदी कुछ समय पहले एक टेलीकॉम कंपनी में कर्मचारी था.नौकरी से निकाले जाने के बाद आर्थिक तंगी होने पर अभिषेक चोरी करने लगा. इसके बाद चार मई को रिलायंस जियो इंफोकॉम कंपनी के टेक्नीशियन ने पुलिस को सूचना दी. यहां के पनकी महुआ पार्क, पनकी पड़ाव, गौतम विहार, टेलीफोन कॉलोनी आदि स्थानों पर लगे कंपनी के टावरों से चोरों ने तमाम इलेक्ट्रॉनिक उपकरण चोरी कर लिए हैं. चोरी किए गए एक मदर बोर्ड की कीमत 70 हजार रुपये है.

निस्वार्थ प्रेम: कैसे एक DOGY निभा रहा है पिता का धर्म?, देखें VIDEO

पुलिस को पुराने कर्मचारी पर हुआ शक 
इसके बाद पुलिस मामले की जांच शुरू कर दी. घटनास्थलों के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देखी गई तो जियो कंपनी के पुराने कर्मचारी रतनपुर कॉलोनी निवासी अभिषेक द्विवेदी की भूमिका सामने आई.

ऐसे करता था चोरी 
पुलिस ने बताया कि मंगलवार रात अभिषेक को शताब्दी तिराहे के पास हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की गई. उसने जुर्म कुबूल करते हुए चोरी किए गए 12 मदर बोर्ड बरामद कराए.आरोपित ने बताया कि वह रात में पल्सर बाइक से निकलता था और गार्ड न होने का फायदा उठाकर टावरों से मदर बोर्ड व अन्य महंगे उपकरण चोरी करता था. उन्हें बेचने के लिए दिल्ली जाने वाला था. उससे पहले ही पुलिस अभिषेक को गिरफ्तार कर ली. 

WATCH LIVE TV