मथुरा: नाबालिग लड़की के अपहरण में पुलिसिया कार्रवाई नहीं होने से क्षुब्ध पिता ने दी जान

परिजनों के मुताबिक इस मामले में कृष्णा नगर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की, उल्टा संत कुमार को हड़काकर भगा दिया. रविवार सुबह 10:00 बजे संत कुमार ने जहर खा लिया. उन्हें सिटी हाॅस्पिटल में उपचार के लिए ले जाया गया जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई.

मथुरा: नाबालिग लड़की के अपहरण में पुलिसिया कार्रवाई नहीं होने से क्षुब्ध पिता ने दी जान
सांकेतिक तस्वीर.

मथुरा: मथुरा के अंबेडकर कॉलोनी में रहने वाले संत कुमार ने अपनी नाबालिग लड़की के अपहृत (Kidnapped) हो जाने के मामले में पुलिस की ओर कार्रवाई नहीं करने पर  जहर खा लिया. अस्पताल में उपचार के दौरान संत कुमार की मौत हो गई. संत कुमार ने बीते 17 जून को अपनी नाबालिग लड़की के अपहरण  का मुकदमा दर्ज कराया था.

परिजनों के मुताबिक इस मामले में कृष्णा नगर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की, उल्टा संत कुमार को हड़काकर भगा दिया. रविवार सुबह 10:00 बजे संत कुमार ने जहर खा लिया. उन्हें सिटी हाॅस्पिटल में उपचार के लिए ले जाया गया जहां उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई.

कानपुर के सरकारी शेल्टर होम में 57 लड़कियां निकलीं कोरोना पॉजिटिव, इनमें 7 गर्भवती

घटना की सूचना मिलने पर मथुरा सिटी इंस्पेक्टर अवधेश कुमार पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे. मृतक के भाई सरोज ने इंस्पेक्टर को बताया कि 5 दिन पहले उनकी नाबालिग भतीजी का सौरव नाम के युवक ने अपहरण कर लिया था. पुलिस ने मुकदमा दर्ज होने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की.

मथुरा सिटी एसपी उदय शंकर सिंह ने बताया कि मृतक के द्वारा दी गई तहरीर पर 19 जून को मुकदमा दर्ज कर लिया गया था. लड़की के अपहृत होने के कारण मृतक डिप्रेशन में था. इसीलिए उसने जहर खा लिया. उन्होंने बताया कि घटना के आरोपियों को पकड़कर पूछताछ की जा रही है और जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी.

WATCH LIVE TV