उन्‍नाव में अब सपा नेता बीरेंद्र यादव पर लगा गैंगरेप का आरोप, तीन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

उन्‍नाव के कोतवाली गंगाघाट का मामला. पीड़िता के अनुसार कई दिनों तक सपा नेता बीरेंद्र यादव ने साथियों संग किया गैंगरेप. 

उन्‍नाव में अब सपा नेता बीरेंद्र यादव पर लगा गैंगरेप का आरोप, तीन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज
उन्‍नाव के सपा नेता बीरेंद्र सिंह और उनके साथियों पर गैंगरेप का आरोप.

उन्‍नाव : उन्‍नाव में बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर लगे गैंगरेप के आरोप की जांच अभी पूरी भी नहीं हुई कि अब उन्‍नाव में ही एक युवती ने एक सपा नेता और उनके साथियों पर गैंगरेप का आरोप लगाया है. घटना कोतवाली गंगाघाट की है. पीड़ित युवती का आरोप है कि एक युवक ने उसे नौकरी दिलाने के नाम पर बहला फुसलाकर सपा नेता बीरेंद्र यादव के हवाले कर दिया. इसके बाद सपा नेता बीरेंद्र यादव और उसके साथियों ने उसके साथ कई दिनों तक गैंगरेप किया. कई दिनों तक गैंगरेप करने के बाद आरोपियों ने उसे कानपुर में एक अन्‍य महिला के साथ रह रहे पीड़िता के पिता के हवाले कर दिया.

पिता ने भी जब आरोपियों के खिलाफ आवाज नहीं उठाई और उसके साथ ही अभद्रता की तो वह कोतवाली गंगाघाट शिकायत लेकर पहुंची. लेकिन वहां भी पुलिस से उसे कोई मदद नहीं मिली. इस पर वह शिकायत लेकर पुलिस अधीक्षक के ऑफिस पहुंची. उन्‍नाव पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर कोतवाली गंगाघाट में सपा नेता समेत तीन लोगों के खिलाफ गैंगरेप की रिपोर्ट दर्ज की गई है. वहीं पीड़िता के पिता पर भी आरोपियों का साथ देने का मामला दर्ज कर लिया गया. वहीं उक्त मामले में अपर पुलिस अधीक्षक अनूप सिंह ने बताया की मामला दर्ज कर लिया गया है. उन्‍होंने जांच कर उचित कार्रवाई करने की बात कही है.

बता दें पिछले दिनों उन्‍नाव के माखी गांव की एक युवती ने बांगरमऊ से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और उनके साथियों पर गैंगरेप का आरोप लगाया था. मामले में कार्रवाई ना होने पर पीडि़ता अपने परिवार के साथ लखनऊ स्थित मुख्‍यमंत्री आवास के बाहर आत्‍मदाह करने पहुंच गई थी. लेकिन वहां पुलिस ने उसे बचा लिया था. इसके बाद पुलिस कस्‍टडी में पीडि़ता की मौत के बाद मामले ने और तूल पकड़ा था. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मामले को संज्ञान में लेकर कुलदीप सिंह सेंगर और उनके साथियों को तत्‍काल गिरफ्तार करने के आदेश दिए थे. इसके बाद सीबीआई को मामले की जांच सौंपी गई और बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सीबीआई ने गिरफ्तार किया. इसके बाद कोर्ट ने विधायक को सात दिन की सीबीआई रिमांड पर भेजा था.