उन्नाव गैंगरेप: CBI जांच पर भरोसा नहीं होता तो हम देश छोड़ चुके होते, पीड़िता के चाचा ने कहा

पीड़िता के चाचा ने कहा, 'विधायक जी ने मेरे भाई को मारा, सभी अधिकारी और पुलिस जो इस अपराध में शामिल हैं, उन्हें जेल भेजा जाए.'

उन्नाव गैंगरेप: CBI जांच पर भरोसा नहीं होता तो हम देश छोड़ चुके होते, पीड़िता के चाचा ने कहा
पीड़िता के चाचा ने कहा, 'विधायक जी ने मेरे भाई को मारा.' (ANI/14 April, 2018)

लखनऊ: उन्नाव में सामूहिक बलात्कार की शिकार हुई पीड़िता के चाचा ने इस बात पर खुशी जताई कि आरोपी भाजपा विधायक को गिरफ्तार कर लिया गया है और इस केस की जांच अब सीबीआई कर रही है. पीड़िता के पिता जिनकी अस्पताल में मौत हो गई, के भाई ने कहा, 'यह जानकर खुशी हुई कि सीबीआई ने उसे गिरफ्तार किया है. देश के सबसे बड़ी जांच एजेंसी इस केस जांच-पड़ताल कर रही है और अगर हमें इस जांच व्यवस्था पर यकीन नहीं है तो हमें देश को छोड़ देना चाहिए.' पीड़िता के चाचा ने कहा, 'विधायक जी ने मेरे भाई को मारा, सभी अधिकारी और पुलिस जो इस अपराध में शामिल हैं, उन्हें जेल भेजा जाए.'

उन्नाव बलात्कार मामला: सीबीआई ने भाजपा विधायक सेंगर को गिरफ्तार किया
इससे पहले सीबीआई ने उत्तर प्रदेश के उन्नाव में नाबालिग लड़की से कथित बलात्कार की घटना को लेकर भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को शुक्रवार (13 अप्रैल) को गिरफ्तार कर लिया. इससे पहले सीबीआई ने सेंगर से 16 घंटे तक पूछताछ की थी और फिर हिरासत में लिया था. सीबीआई अधिकारियों के मुताबिक सेंगर को 13 अप्रैल की सुबह करीब पांच बजे लखनऊ में नवल किशोर रोड स्थित सीबीआई के कार्यालय लाया गया था. इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने सेंगर की तत्काल गिरफ्तारी का आदेश देते हुए कहा था कि वह कानून एवं व्यस्था की मशीनरी को ‘प्रभावित कर रहे हैं’.

सीबीआई ने तीन मामलों में दर्ज किया है एफआईआर
इस मामले में पहली प्राथमिकी कथित बलात्कार के संबंध में है जिसमें सेंगर और एक महिला शशि सिंह आरोपी हैं.

दूसरी प्राथमिकी हिंसा से और पीड़िता के पिता की न्यायिक हिरासत में मौत से संबंधित है. हिंसा मामले में चार स्थानीय लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, चूंकि पुलिस ने हत्या के आरोप बाद में जोड़े हैं, इसलिए ये सीबीआई की प्राथमिकी में दर्ज नहीं है.

तीसरा मामला पीड़िता के पिता के खिलाफ उन आरोपों से जुड़ा है, जिसमें उन्हें शस्त्र कानून के तहत गिरफ्तार करके स्थानीय पुलिस ने जेल में बंद कर दिया था. वहां रहस्यमयी हालत में उनकी मौत हो गई थी. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में उनके शरीर पर चोट के निशान पाए जाने की बात सामने आई है.

पीड़िता ने विधायक सेंगर पर लगाया है रेप का आरोप
पीड़िता का आरोप है कि विधायक ने चार जून 2017 में अपने आवास पर उसके साथ दुष्कर्म किया था जब वह अपने रिश्तेदार के साथ वहां नौकरी मांगने गई थी. पीड़िता के पिता की विधायक के भाई तथा अन्य की कथिततौर पर मारपीट के बाद करीब एक सप्ताह के बाद न्यायिक हिरासत में मौत हो गई थी.

(इनपुट एजेंसी से भी)