उन्नाव गैंगरेप केस में गवाह यूनुस का शव कब्र से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया

कब्र से शव निकालने का काम मुस्लिम धर्म गुरू काजी साहब की देख-रेख में किया गया.

उन्नाव गैंगरेप केस में गवाह यूनुस का शव कब्र से निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया
उन्नाव रेप मामले के मुख्य आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर. (फाइल फोटो)

लखनऊ/ उन्नाव: उन्नाव बलात्कार मामले के गवाह यूनुस का शव कब्र से निकाल कर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया गया. उसकी मौत कुछ दिन पहले कथित रूप से बीमारी के कारण हुई थी. उन्नाव के एडीएम बीएन यादव ने आज रात पीटीआई भाषा को फोन पर बताया कि ' युनूस का शव आज रात कब्र से निकाल कर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया गया है. कब्र से शव निकालने का काम मुस्लिम धर्म गुरू काजी साहब की देख-रेख में किया गया.’’ इससे पहले दिन में जिला प्रशासन के अधिकारियों ने यूनुस के परिजनों से मुलाकात की थी और उनसे पोस्टमार्टम के लिये शव निकालने की अनुमति मांगी थी . 

इस बीच लखनऊ में यूनुस के परिजन आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के लिए पहुंचे. गौतमपल्ली पुलिस थाना के प्रभारी विजय पांडे ने बताया कि 'यूनुस के परिजन आज मुख्यमंत्री से मिलने आये थे लेकिन उन्हें हजरतगंज कोतवाली ले आया गया ताकि उनकी समस्यायें जानकर उसे जिला प्रशासन को अवगत कराया जा सके.

 

 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्विटर पर उसकी मौत को ‘रहस्यमयी’ और शव को जल्दबाजी में दफनाए जाने की बात कही थी.  हालांकि परिवार का कहना है कि यूनुस की मौत लीवर संबंधी बीमारी के चलते हुई थी.

उन्‍नाव: बीजेपी MLA कुलदीप सिंह के भतीजे पर भी लगा महिला खिलाड़ी के यौन शोषण का आरोप

यूनुस के भाई जान मोहम्मद ने आज यहां पत्रकारों से कहा था, 'प्रशासन हम पर दबाव बना रहा है. हम नहीं चाहते कि कब्र से शव निकालकर पोस्टमार्टम कराया जाये क्योंकि यह शरीयत के खिलाफ है.' 

उन्नाव रेप केस के चश्मदीद गवाह की मौत, राहुल बोले- 'साजिश की आ रही है बू'

गौरतलब है कि उन्नाव में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की कथित संलिप्तता वाले बलात्कार और हत्या के मामले के एक गवाह की 23 अगस्त को कथित तौर पर बीमारी से मौत हो गई थी. यूनुस कथित बलात्कार पीड़िता के पिता को भाजपा विधायक के भाई तथा अन्य लोगों द्वारा बेरहमी से पीटे जाने का गवाह था. पीड़िता के चाचा ने बुधवार को पुलिस से शव का पोस्टमार्टम कराए जाने की मांग की थी. गवाह के भाइयों ने दावा किया था कि पीड़िता के चाचा ने कहा था कि अगर वह पोस्टमार्टम के लिए राजी हो जाएंगे तो उन्हें 10-12 लाख रुपये मिलेंगे. 

(इनपुट-भाषा)