बरकरार रहेगी कांग्रेस के बागी दिनेश सिंह की विधान परिषद सदस्यता, UP कांग्रेस करेगी कोर्ट में अपील

रायबरेली से सोनिया गांधी के खिलाफ BJP के टिकट पर 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ चुके दिनेश सिंह की विधान परिषद सदस्यता बरकरार रहेगी. कांग्रेस की ओर से विधान परिषद सभापति को दिनेश सिंह की सदस्यता रद्द करने की याचिका दी थी, जो खारिज हो गई है.

बरकरार रहेगी कांग्रेस के बागी दिनेश सिंह की विधान परिषद सदस्यता, UP कांग्रेस करेगी कोर्ट में अपील
कांग्रेस के बागी दिनेश सिंह ने सोनिया गांधी के खिलाफ लड़ा लोकसभा चुनाव

लखनऊ: रायबरेली से सोनिया गांधी के खिलाफ BJP के टिकट पर 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ चुके दिनेश सिंह की विधान परिषद सदस्यता बरकरार रहेगी. कांग्रेस की ओर से विधान परिषद सभापति को दिनेश सिंह की सदस्यता रद्द करने की याचिका दी थी, जो खारिज हो गई है. सभापति के दिनेश सिंह के पक्ष में फैसला देने के बाद सभापति अब यूपी कांग्रेस ने कोर्ट की शरण लेने की बात कही है. 

कांग्रेस ने उन्हें दलबदल कानून के तहत अयोग्य घोषित करने के लिए सभापति के यहां याचिका दी थी. इस पर सुनवाई के लिए दोनों पक्षों को पत्र भेजा गया था  और आज इस पर सभापति की ओर से फैसला सुना दिया गया. 
दरअसल, कांग्रेस से एमएलसी दिनेश सिंह ने BJP की सदस्यता ले ली है. वे रायबरेली से UPA की चेयरपर्सन सोनिया गांधी के खिलाफ भाजपा के प्रत्याशी भी रहे. जिसके बाद कांग्रेस के MLC दीपक सिंह ने दिनेश की सदस्यता खत्म करने को विधान परिषद के सभापति के यहां याचिका दायर की थी. 

 
याचिका पर नियम-7 में उप्र. विधान परिषद सदस्य (दल परिवर्तन के आधार पर अयोग्यता) नियम-1987 के तहत सुनवाई हुई. कांग्रेस ने ये अर्जी करीब 11 महीने पहले दी थी. ऐसे मामले में सभापति का ही फैसला अंतिम माना जाता है. अब सभापति का फैसला दिनेश सिंह के हक में आने के बाद कांग्रेस कोर्ट जाने की बात कह रही है. 
 
WATCH LIVE TV