यूपी के DGP का पुलिसकर्मियों को निर्देश, 'प्रत्‍याशी या दल से न उपहार लें, न प्रचार करें'

डीजीपी ओपी सिंह ने जरूरी निर्देश दिए. उन्होंने अफसरों से कहा है कि वे अपने क्षेत्र में तैनात पुलिसकर्मियों से निर्देशों का अनुपालन कराएं.

यूपी के DGP का पुलिसकर्मियों को निर्देश, 'प्रत्‍याशी या दल से न उपहार लें, न प्रचार करें'
यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने दिए निर्देश. फाइल फोटो

लखनऊ : चुनावी कार्यक्रम घोषित होने और अचार संहिता लागू होने के बाद प्रदेश में प्रशासन और पुलिस दोनों ही काफी मुस्तैद नजर आ रही है. प्रशासन की तरफ से राजनीतिक बैनर-पोस्टर हटाने का काम किया जा रहा है. पुलिस यह भी देख रही है कि राज्य में किसी प्रकार से आचार संहिता का उल्लंघन तो नहीं हो रहा. वहीं डीजीपी ओपी सिंह ने पुलिसकर्मियों को  हिदायत देते हुए कहा कि किसी पार्टी को लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट न डालें.

 

लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद आचार संहिता लागू होने पर सोमवार को डीजीपी ओपी सिंह ने पुलिसकर्मियों को जरूरी निर्देश दिए. उन्होंने जोन, रेंज और जिलों के अफसरों से कहा है कि वे अपने क्षेत्र में तैनात सभी पुलिसकर्मियों को निर्देशों का अनुपालन कराएं. डीजीपी ने कहा कि पुलिसकर्मी किसी दल अथवा किसी प्रत्याशी से न कोई उपहार लें और न ही प्रचार-प्रसार करें.

डीजीपी ओपी सिंह ने पुलिसकर्मियों से कहा कि सोशल मीडिया पर किसी तरह की पोस्ट डालने पर पाबंदी लगाई गई है. साथ ही कहा गया कि वे किसी दल या प्रत्याशी को आवंटित चुनाव चिह्न अपनी वर्दी पर न लगाएं और न ही किसी के उकसावे पर दूसरे को नुकसान पहुंचाएं. साथ ही लाउडस्पीकर की आवाज को लेकर चुनाव आयोग के निर्णय का सख्ती के साथ पालन करवाएं.

लोकसभा चुनाव 2019 का नोटिफिकेशन जारी होते ही चुनाव आयोग की आचार संहित लागू हो गई है. इसके तहत आज देशभर में एक बड़ा अभियान चलाकर राजनीतिक दलों के होर्डिंग, बैनर, पोस्टर उतारे जा रहे हैं. साथ ही सरकारी योजनाओं के होर्डिंग उतारने का काम चल रहा है. आचार संहिता उल्लंघन की जानकारी चुनाव आयोग की हेल्पलाइन 1095 पर की जा सकती है.

आयोग का दावा है कि 100 मिनट के भीतर एक्शन लिया जाएगा. चुनाव आयोग के अध्यक्ष सुनील आरोड़ा ने तारीखों का ऐलान कर दिया है. कुल सात चरणों में 11 अप्रैल से देश के सभी लोकसभा सीटों पर चुनाव होगा. 18 अप्रैल को दूसरा, 23 अप्रैल को तीसरा, 29 अप्रैल को चौथा, 6 मई को पांचवां, 12 मई को छठां और 19 मई को सातवें चरण का चुनाव होगा.

लोकसभा चुनाव 2019 में शांति व्यवस्था, अपराधियों की धरपकड़ और वोट डालने के लिए डराने-धमकाने वालों को दबोचने के लिए लखनऊ के एसएसपी कलानिधि नैथानी द्वारा चुनाव हेल्प लाइन का गठन किया गया है, जो 24 घण्टे सक्रिय रहेगी. जनता का कोई भी व्यक्ति चुनाव हेल्प लाइन नं0 9454405156 पर फोन करके आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन, किसी भी प्रकार का प्रलोभन जैसे शराब या धन बांटने वालों, वोट डालने के लिए डराने-धमकाने या मतदान करने से रोकने वालों के बारे में सूचना दे सकेगा. 

चुनाव संबंधी अन्य आपराधिक सूचनाएं भी इस हेल्पलाइन नंबर 9454405156 पर दी जा सकेगी. चुनाव हेल्प लाइन नंबर पर जनता के लिए वाट्सएप की सुविधा भी उपलब्ध रहेगी, जिस पर कोई भी व्यक्ति सूचना के साथ फोटो व वीडियो क्लिप भी भेज सकेगा. सूचना देने वाले व्यक्ति की पहचान गोपनीय रखी जाएगी.