औरैया हादसे के बाद यूपी सरकार ने दौड़ाईं बसें, प्रियंका गांधी ने अब भी उठाए व्यवस्था पर सवाल

औरैया सड़क हादसे के बाद औरैया सड़क हादसे के बाद पैदल या असुरक्षित वाहनों से सफर करने वाले प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के लिए अतिरिक्त बसों का इंतजाम किया गया है. वहीं इस मामले पर सियासत भी जारी है. जहां एक ओर यूपी सरकार मजदूरों की सुरक्षित घर वापसी के लिए तमाम कोशिशें कर रही वहीं विपक्ष योगी सरकार पर मजदूरों के पैदल चलने और उन्हें बॉर्डर पर रोके जाने के लेकर निशाना साधा है.

औरैया हादसे के बाद यूपी सरकार ने दौड़ाईं बसें, प्रियंका गांधी ने अब भी उठाए व्यवस्था पर सवाल
फाइल फोटो

लखनऊ: औरैया सड़क हादसे के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने पलायन कर रहे प्रवासी मजदूरों को लेकर हर जिले के अफसरों को अलर्ट कर दिया है. पैदल या असुरक्षित वाहनों से सफर करने वाले प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के लिए अतिरिक्त बसों का इंतजाम किया गया है. वहीं इस मामले पर सियासत भी जारी है. जहां एक ओर यूपी सरकार मजदूरों की सुरक्षित घर वापसी के लिए तमाम कोशिशें कर रही वहीं विपक्ष योगी सरकार पर मजदूरों के पैदल चलने और उन्हें बॉर्डर पर रोके जाने के लेकर निशाना साधा है. हालांकि मजदूरों के लिए बसें चलाने के योगी के फैसले का लोगों ने स्वागत किया है.

ये भी पढ़ें-प्रवासी मजदूरों पर यूपी के राज्यमंत्री चौधरी उदयभान सिंह का विवादित बयान, अपराधियों से की मजदूरों की तुलना

मजदूरों के लिए सरकारी और प्राइवेट बसें वाराणसी  NH-2 हाइवे के इलाहाबाद बॉर्डर पर भेजी गई हैं. जो भी मजदूर पैदल या किसी वाहन से आता दिख रहा है पुलिस उसे रोक कर बस में बैठाकर घर के लिए रवाना कर रही है. प्रशासन ने बस की व्यवस्था के साथ-साथ इन मजदूरों के लिए खाने और नहाने का भी प्रबंध किया है. इसके बाद भी कुछ मजदूर ट्रकों के अंदर या फिर ट्रकों के ऊपर लद कर जाते हुए देखे जा रहे हैं. उन्हें भी रोका जा रहा है.

कमिश्नर और आई ने किया स्थलीय निरीक्षण
वाराणसी जोन के कमिश्नर दीपक अग्रवाल और आई जी विजय सिंह मीणा प्रवासी मजदूरों के लिए किए गए इंतजामों का निरीक्षण करने पहुंचे. कमिश्नर दीपक अग्रवाल का कहना है कि प्रवासी मजदूर के लिए सभी जरूरी व्यवस्था की गई है. वहीं आई जी विजय सिंह मीणा ने बताया कि जो लोग ट्रकों पर बैठ कर आ रहे हैं, उन्हें रोककर बसों से घर भेजा जा रहा है. इसके साथ ही मजदूरों को अवैध तरीके से लाने वाले ट्रक ड्राइवरों के खिलाफ कार्रवाई भी की जा रही है. इस दौरान बड़ी संख्या में पलायन कर पैदल या ट्रक से वाराणसी पहुंचे मजदूरों ने प्रशासनिक व्यवस्था और सरकार की तारीफ की.

उधर, उत्तर प्रदेश सरकार के इन प्रयासों के बाद भी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सरकार पर निशाना साधा है. प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर मजदूरों का एक वीडियो शेयर करते हुए उत्तर प्रदेश सरकार पर सवाल खड़ा किया है. प्रियंका ने अपने ट्वीट में लिखा है कि यूपी के हर बॉर्डर पर बहुत मजदूर मौजूद हैं. जो धूप में पैदल चल रहे हैं, आज वो घंटों खड़े रखे जा रहे हैं. उन्हें अंदर आने नहीं दिया जा रहा. उनके पास पिछले 50 दिनों से कोई काम नहीं है. जीविका ठप पड़ी है. हम जो भी योजनाएं बना रहे हैं उनमें उनके लिए कुछ सोचा ही नहीं जा रहा. आगे प्रियंका ने लिखा कि मजदूरों को घर भिजवाने के लिए कोरी घोषणाएं और ओछी राजनीति से काम नहीं चलेगा. ज्यादा ट्रेनें चलाइए, बसें चलाइए. हमने 1000 बसों की परमिशन मांगी है हमें सेवा करने दीजिए.

 

Watch LIVE TV-