आईएएस अफसर अनुराग तिवारी की मौत की CBI जांच की सिफारिश

उत्तर प्रदेश सरकार ने कर्नाटक कैडर के आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की मौत की सीबीआई जांच की सिफारिश की है. तिवारी के परिवार वालों ने सीबीआई जांच की मांग की थी.

आईएएस अफसर अनुराग तिवारी की मौत की CBI जांच की सिफारिश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने कर्नाटक कैडर के आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की मौत की सीबीआई जांच की सिफारिश की है. तिवारी के परिवार वालों ने सीबीआई जांच की मांग की थी.

राज्य के पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह ने आज यहां संवाददाताओं से कहा, तिवारी का परिवार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिला था. निर्णय हो गया है. जांच सीबीआई को दी जाएगी. पुलिस ने तिवारी के परिवार वालों की शिकायत पर हत्या का मामला दर्ज किया था, जिसके कुछ ही घंटे बाद सीबीआई जांच का फैसला किया गया. पोस्टमार्टम से पता चला है कि अनुराग की मौत दम घुटने से हुई लेकिन मामले की जांच कर रही पुलिस और विशेष जांच दल को उनके विसरा और खून के नमूनों तथा हृदय की रिपोर्ट का इंतजार है ताकि मौत की असल वजह पता चल सके.

इससे पहले तिवारी की संदिग्ध मौत के मामले में उनके परिजनों ने आज हजरतंगज पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई. हजरतगंज के पुलिस क्षेत्राधिकारी अवनीश कुमार मिश्रा ने बताया, आईएएस अनुराग तिवारी की मौत के मामले में उनके भाई मयंक ने आज अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कराया है. मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद अनुराग के भाई मयंक ने कहा था, हम पुलिस की जांच से संतुष्ट नहीं हैं इसलिये हम लोगों ने मुख्यमंत्री से सीबीआई जांच की मांग की है. 

गौरतलब है कि आईएएस अधिकारी तिवारी (36) का शव 17 मई को अति सुरक्षित माने जाने वाले हजरतगंज के मीराबाई मार्ग स्थित वीआईपी गेस्ट हाउस के निकट संदिग्ध परिस्थितियों में पाया गया था. तिवारी बेंगलूरू में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों के विभाग में आयुक्त के पद पर तैनात थे.