close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

UP: 18 जिलों में अगले 48 घंटों में भारी बारिश का अलर्ट, प्राकृतिक आपदा में 44 से ज्यादा लोगों की मौत

Uttar Pradesh: गाजीपुर के गांवों में बाढ़ का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा. सियाड़ी गांव में गंगा की सहायक मगई नदी का पानी गांव में पहुंच गया है, जिससे संपर्क मार्ग टूट गया है. ग्रामीणों का आरोप है की जिला प्रशासन की ओर से उन्हें कोई सहायता उपलब्ध नहीं कराई जा रही है और न ही किसी नाव की व्यवस्था की गई है. 

UP: 18 जिलों में अगले 48 घंटों में भारी बारिश का अलर्ट, प्राकृतिक आपदा में 44 से ज्यादा लोगों की मौत
भारी बारिश के चलते यूपी के कई जिलों में जनजीवन अस्त-व्यस्त है.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में तेज बारिश (Heavy Rains) ने कई जिलों में कहर बरपाया रखा है. लेकिन अगले 48 घंटे उत्तर प्रदेश पर और भी भारी पड़ सकते हैं. मौसम विभाग ( Meteorological Department) ने अगले 48 घंटे के लिए तेज बारिश का अलर्ट (Alert) जारी किया है. प्राकृतिक आपदा में यूपी के अलग-अलग जिलों से दर्दनाक तस्वीरें सामने आ रही है. बारिश के इस कहर में अब तक 44 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

 

 

44 से ज्यादा लोगों की मौत
प्रयागराज की जहां दीवार गिरने से एक बच्चे समेत 2 लोगों की मौत हो गई. वहीं, फतेहपुर में तीन घर गिरने से 9 लोग ज़ख्मी हो गए हैं. महोबा (Mahoba) में एक मकान पर बरगद का पेड़ गिरने से 3 लोगों की मौत हो गई, जबकि चंदौली (Chandauli) में बारिश की वजह से मकान की दीवार गिर गई, जिसके नीचे दब कर 3 लोगों की मौत हो गई.  सहारनपुर और अमेठी में एक-एक व्यक्ति के मौत की खबर है. भारी बारिश और बाढ़ की वजह से 30 से ज्यादा पशुओं की भी मौत होने की खबर है. इसके साथ ही अन्य कई जगह भी लोगों की मैत की खबर आ रही है.  

सियाड़ी गांव के हाल बेहाल
गाजीपुर के गांवों में बाढ़ का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा. सियाड़ी गांव में गंगा की सहायक मगई नदी का पानी गांव में पहुंच गया है, जिससे संपर्क मार्ग टूट गया है. स्थानीय लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है. ग्रामीणों का आरोप है की जिला प्रशासन की ओर से उन्हें कोई सहायता उपलब्ध नहीं कराई जा रही है और न ही किसी नाव की व्यवस्था की गई है. जिलाधिकारी के मुताबिक, उनकी ओर से लगातार बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत पहुंचाई जा रही है.

लाइव टीवी देखें

करोड़ों के बस टर्मिनल से टपक रहा है पानी
राजधानी लखनऊ में हुई तेज बारिश ने आलमबाग बस टर्मिनल को पानी-पानी कर दिया. आपको बता दें ये बस टर्मिनल पीपीपी मॉडल पर बनकर तैयार हुआ था. लेकिन बारिश में टपकते पानी ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं. आलम ये है कि सेकंड फ्लोर की फाल्स सीलींग से पानी टपक रहा है और कर्मचारी यहां छाता लगाकर काम कर रहे हैं.