यूपी के मंत्री बोले, गंगा सफाई के नाम पर अरबों रुपये का हुआ घोटाला

ओम प्रकाश राजभर ने यह भी कहा,‘गंगा पुत्र’ प्रोफेसर जी. डी. अग्रवाल को हमने खो दिया. अब संत गोपाल दास अग्रवाल के लिये उनका दल आवाज उठा रहा है.’ उन्होंने सवाल किया ‘कहाँ हैं गोपाल दास?’ 

यूपी के मंत्री बोले, गंगा सफाई के नाम पर अरबों रुपये का हुआ घोटाला
ओम प्रकाश राजभर अक्सर केंद्र और योगी सरकार पर निशाना साधते रहते हैं (फाइल फोटो)

बलिया: उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष और सूबे के काबीना मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने शनिवार को केंद्र की नरेंद्र  मोदी सरकार पर गंगा नदी की सफाई के नाम पर अरबों रुपये के घोटाले का आरोप लगाया.

योगी सरकार में दिव्यांग जन सशक्तिकरण मंत्री राजभर ने ‘ट्वीट’ कर आरोप लगाया कि गंगा सफाई के नाम पर अरबों रुपये का घोटाला हुआ है. उन्होंने जुलाई 2017 की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि दो वर्ष में गंगा की सफाई के नाम पर सात हजार करोड़ रुपये खर्च कर दिये गये, लेकिन गंगा अब भी मैली है. 

उन्होंने यह भी कहा,‘गंगा पुत्र’ प्रोफेसर जी. डी. अग्रवाल को हमने खो दिया. अब संत गोपाल दास अग्रवाल के लिये उनका दल आवाज उठा रहा है.’ उन्होंने सवाल किया ‘कहाँ हैं गोपाल दास?’ 

उल्लेखनीय है कि गंगा की सुरक्षा के लिये अनशन कर रहे संत गोपाल दास गत पांच दिसम्बर की रात देहरादून के एक अस्पताल से संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गये थे.

बुलंदशहर को लेकर साधा था योगी सरकार पर निशाना 
बता दें राजभर केंद्र और प्रदेश सरकार पर लगातार निशाना साध रहे हैं. इससे पहले राजभर ने बुलंदशहर हिंसा को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा था कि उनके लोग दंगा भडका रहे हैं जबकि वह शांति का प्रयास कर रहे हैं. अपनी ही सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर अकसर विवादों में रहने वाले राजभर रसडा में संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे.

बुलन्दशहर कांड के बाद मुख्यमंत्री की उच्च अधिकारियों के साथ बैठक और दिवंगत पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के परिजनों से मुलाकात को लेकर पूछे गये सवाल पर राजभर ने कहा, 'उनके (योगी) लोग दंगा भड़का रहे हैं तथा वह शान्ति का प्रयास कर रहे हैं.' उन्होंने बुलन्दशहर कांड की एसआईटी जांच को लेकर भी सवाल खड़े किये और कहा कि एसआईटी क्या जांच करेगी, पता नहीं? 

(इनपुट - भाषा)