UP: योगी सरकार के मंत्री बोले, 'PFI को मिल रही है पाकिस्तान से फंडिंग और AIMPLB का साथ'

यूपी सरकार के अल्पसंख्यक मंत्री मोहसिन रजा ने दावा किया कि लखनऊ में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे, तब टुकड़े-टुकड़े गैंग का उमर खालिद भी वहां मौजूद था.

UP: योगी सरकार के मंत्री बोले, 'PFI को मिल रही है पाकिस्तान से फंडिंग और AIMPLB का साथ'
मोहसिन रजा ने कहा कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) पीएसआई जैसे संगठन को मदद दे रहा है.

लखनऊ: नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हुए हिंसक प्रदर्शनों में पीएफआई (PFI) की भूमिका सामने आने के बाद इस संगठन पर प्रतिबंध लगाने के लिए कार्रवाई की जा रही है. इन सबके बीच यूपी के अल्पसंख्यक मंत्री मोहसिन रजा ने पीएफआई संगठन को लेकर बड़ा बयान दिया है. मोहसिन रजा ने कहा है कि पीएफआई संगठन को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई फंडिंग कर रही है. उन्होंने कहा कि पीएफआई देश में प्रतिबंधित संगठन सिमी (SIMI) का ही एक रूप है. उन्होंने कहा कि पीएफआई का मकसद मुस्लिम कट्टरवाद को बढ़ावा देना है. मुस्लिम कट्टरवाद को बढ़ावा देकर मुस्लिम युवाओं को भटकाकर आतंकवादी बनाने की कवायद है.

यूपी सरकार के अल्पसंख्यक मंत्री मोहसिन रजा ने दावा किया कि लखनऊ में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे, तब टुकड़े-टुकड़े गैंग का उमर खालिद भी वहां मौजूद था. उन्होंने कहा कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) पीएसआई जैसे संगठन को मदद दे रहा है. उन्होंने कहा कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को आईएसआई जैसे संगठन फंडिंग कर रहे हैं. गौरतलब है कि यूपी पुलिस की जांच में हिंसक प्रदर्शनों के पीछे पीएफआई संगठन की भूमिका सामने आई थी. यूपी पुलिस ने इस मामले में पीएफआई के करीब डेढ़ दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने बताया था कि गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से आपत्तिजनक सामग्रियां और सीडी बरामद की गई थी. पुलिस ने आरोपियों के पास से भारी मात्रा में एंटी सीएए और एनआरसी के पैंफ्लेट और पोस्टर आदि बरामद किए थे. इन लोगों के पास से राम मंदिर और बाबरी मस्जिद से जुड़ी आपत्तिजनक सामग्री भी पाई गई थी. पुलिस ने कहा था कि अलग-अलग जिलों में बाहर के लोगों को बुलाकर हिंसा भड़काई गई थी.

ये वीडियो भी देखें: