गाजियाबाद: सामूहिक आत्महत्या मामले में आरोपी गिरफ्तार, पुलिस ने खोला ये बड़ा राज

पुलिस के मुताबिक, राकेश वर्मा ने गुलशन को बड़े व्यापार का सपना दिखाकर उससे करीब 1.5 करोड़ रुपये ले लिए और ये पैसा प्रॉपर्टी में लगवा दिया. 

गाजियाबाद: सामूहिक आत्महत्या मामले में आरोपी गिरफ्तार, पुलिस ने खोला ये बड़ा राज
उधार देने वालों ने गुलशन से पैसे मांगने शुरू कर दिए और बार-बार उस पर दवाब बनाने लगे.

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के चर्चित 5 लोगों की हत्या-आत्महत्या मामले में पुलिस ने आरोपी राकेश वर्मा को गिरफ्तार कर लिया है. थाना इंदिरापुरम पुलिस ने ये गिरफ्तारी की है. वहीं, पुलिस ने इस मामले के बारे में जानकारी देने के लिए बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की. पुलिस ने पांच लोगों की हत्या-आत्महत्या मामले में आरोपी राकेश वर्मा को गाजियाबाद के मोहन नगर से गिरफ्तार किया. 

पुलिस के मुताबिक, राकेश वर्मा ने गुलशन को बड़े व्यापार का सपना दिखाकर उससे करीब 1.5 करोड़ रुपये ले लिए और ये पैसा प्रॉपर्टी में लगवा दिया. 2018 में राकेश वर्मा और उसकी मां ने गुलशन के नाम से ली गई प्रॉपर्टी को धोखाधड़ी से अपने नाम करवा लिया. जिसके बाद गुलशन ने अपने पैसे मांगने शुरू कर दिए. लगातार रुपये मांगने पर राकेश वर्मा ने कई चेक गुलशन को दिए, जो बाउन्स हो गए. जिसके बाद गुलशन का पूरा परिवार डिप्रेशन में आ गया था. गुलशन ने कई लोगों से पैसे उधार लेकर भी राकेश वर्मा के कहने पर व्यापार में लगाये थे. जिसके बाद उधार देने वालों ने गुलशन से पैसे मांगने शुरू कर दिए और बार-बार उस पर दवाब बनाने लगे.

पुलिस के मुताबिक, लोगों के दवाब और राकेश वर्मा के पैसे न लौटाने के कारण गुलशन ने अपने 15 साल के बेटे की गला रेत कर और बेटी की रस्सी से गला घोंट कर हत्या कर दी. इसके बाद घर में मौजूद गुलशन, उसकी पत्नी और महिला बिज़नेस पार्टनर ने 8वीं मंजिल से छलांग लगा दी. पुलिस को राकेश वर्मा के खिलाफ गुलशन के घर से एग्रीमेंट की कॉपी समेत कई अन्य सबूत मिले हैं. पुलिस इस मामले में राकेश वर्मा और उसकी मां के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.