मल्टीलेवल मार्केटिंग के जरिये करोड़ों की ठगी करने वाला निखिल कुशवाहा गिरफ्तार

यूपी एसटीएफ की पूछताछ में निखिल कुशवाहा ने बताया कि उसके बड़े भाई अभय कुशवाहा ने 2013 मे ‘इनफिनिटी वर्ड इफ्रावेंचर कम्पनी’ बनायी थी. 

मल्टीलेवल मार्केटिंग के जरिये करोड़ों की ठगी करने वाला निखिल कुशवाहा गिरफ्तार
कम्पनी बाइक, टैक्सी चलाने के नाम पर ग्राहकों से 6 लाख 10 हज़ार रूपए जमा करने के बदले हर महीने 9,582 की किश्त देने का लालच देती थी.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने ‘हैलोराइड’ कम्पनी बनाकर ‘मल्टीलेवल मार्केटिंग’ के माध्यम से जनता से करोड़ो रूपये की ठगी करने वाले निखिल कुशवाहा को लखनऊ के गोमती नगर के विभूति खंड इलाके से गिरफ्तार किया. हैलोराइड इनफिनिटी वर्ल्ड इफ्रावेंचर लिमिटेड कम्पनी और ओजोन इनफिनिटी वर्ल्ड एग्रो नाम की कम्पनियां बनाकर जनता से बड़ी धनराशि की ठगी करने वाले कम्पनी का डायरेक्टर निखिल कुशवाहा कई महीनो से थाना विभूतिखण्ड में दर्ज कई मुकदमों मे वांछित चल रहा था.

यूपी एसटीएफ की पूछताछ में निखिल कुशवाहा ने बताया कि उसके बड़े भाई अभय कुशवाहा ने 2013 मे ‘इनफिनिटी वर्ड इफ्रावेंचर कम्पनी’ बनायी थी. जो ‘रियल स्टेट’ में काम करती थी. इस कम्पनी के ‘डायरेक्टर’ अभय कुशवाहा, नीलम वर्मा, आजम सिद्वीकी और शकील अहमद खान थे, जिसमें वह ‘सेल्स मैनेजर’ था. इसके बाद हम लोगों ने ‘हैलोराइड’ नामक कम्पनी बनायी. जिसमे वह, अभय कुशवाहा, नीलम वर्मा, आजम सिद्वीकी डायरेक्टर थे. यह कम्पनी बाइक, टैक्सी चलाने के नाम पर ग्राहकों से 6 लाख 10 हज़ार रूपए जमा करने के बदले हर महीने 9,582 की किश्त देने का लालच देकर लोगों से पैसे लगवाए और कम्पनी मे जब लगभग 100 करोड़ जमा हो गया, तो कम्पनी ने ग्राहकों को ‘पेमेंट’ देना बंद कर दिया. जिसके बाद इस कंपनी के खिलाफ लोगों ने मुकदमा दर्ज कराया.

अभय कुशवाहा को मार्च 2019 में विभूति खण्ड पुलिस ने गिरफ्तार किया था. जेल मे लगभग 3 महीने रहने के बाद अभय कुशवाहा की जमानत हो गयी, जिसके बाद निखिल कुशवाहा और अभय कुशवाहा चोरी छिपे ‘ओजोन इनफिनिटी वर्ड एग्रो’ नाम की कम्पनी जिसमें ग्राहकों से ‘डेली डिपाजिट’ कराया जाता है तथा एक वर्ष पूर्ण होने पर रूपये ब्याज के साथ वापस कर दिया जाता है, चला रहे थे. कम्पनी के कई ऑफिस लखनऊ, फतेहपुर, मुजफ्फरपुर, बिहार, पंजाब में बना रखे हुए है. पुलिस के अनुसार अभय कुशवाहा और कम्पनी के अन्य डायरेक्टर इस समय पुलिस से बचने के लिए सऊदी अरब मे छिप कर रह रहे हैं.