close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अब उत्तर प्रदेश से घुसपैठिए होंगे बाहर, NRC पर UP पुलिस का मसौदा तैयार

NRC: जो मसौदा तैयार किया है उसमें सभी जिलों के बाहरी छोर पर स्थित रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, रोड के किनारे और उसके आस-पास बसी नई बस्तियों की पहचान की जाएगी. जहां, बांग्लादेशी और अन्य विदेशी नागरिक अवैध रूप से शरण लेते हैं.

अब उत्तर प्रदेश से घुसपैठिए होंगे बाहर, NRC पर UP पुलिस का मसौदा तैयार
सभी जिलों के एसपी, आईजी, डीआईजी रेंज और एडीजी जोन को आज पत्र भेजा जाएगा.

लखनऊ: असम की तरह उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) जल्द लागू हो सकता है. यूपी पुलिस (UP Police) ने सभी जिलों में रह रहे अवैध बांग्लादेशियों को चिन्हित करने का फैसला किया है. एनआरसी के लिए डीजीपी मुख्यालय ने मसौदा तैयार किया. सूत्रों के मुताबिक खबर है कि आज (01 अक्टूबर) से सभी जिलों के एसपी, आईजी, डीआईजी रेंज और एडीजी जोन को पत्र भेजा जाएगा और सभी को एनआरसी पर काम शुरू करने के निर्देश दिए जाएंगे. 

जानकारी के मुताबिक, जो मसौदा तैयार किया है उसमें सभी जिलों के बाहरी छोर पर स्थित रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, रोड के किनारे और उसके आस-पास बसी नई बस्तियों की पहचान की जाएगी. जहां, बांग्लादेशी और अन्य विदेशी नागरिक अवैध रूप से शरण लेते हैं.

अवैध विदेशी नागरिकों को पहचान कर उन्हें देश से निकालने के लिए प्रस्ताव निर्धारित प्रारूप में शासन के गृह (वीजा) विभाग को भेज दिया जाएगा. इस पूरी प्रक्रिया की समय-समय पर समीक्षा होगी. अवैध विदेशियों को वापस भेजने के लिए आईजी बीएसएफ, कोलकाता से समन्वय स्थापित किया जाएगा.

लाइव टीवी देखें

पुलिस यह भी पता लगाएगी कि विदेशी नागरिकों द्वारा अपने प्रवास को विनियमित करने के लिए कौन-कौन से फर्जी अभिलेख व सुविधाएं ले ली गई है. जांच में अगर संबंधित व्यक्ति अपना पता अन्य राज्यों, जिलों में बताता है तो समयबद्घ तरीके से उसका सत्यापन कराया जाएगा.