योगी सरकार ने चीन को दिया झटका, घरों से हटाए जाएंगे बिजली के चाइनीज स्मार्ट मीटर

अब उत्तर प्रदेश ऊर्जा विभाग ट्रांसमिशन और उत्पादन के साथ ही किसी भी काम के लिए चीन में निर्मित उपकरण का इस्तेमाल नहीं करेगा.

योगी सरकार ने चीन को दिया झटका, घरों से हटाए जाएंगे बिजली के चाइनीज स्मार्ट मीटर
प्रतीकात्मक फोटो

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने भारत और चीन के बीच सीमा पर हुए विवाद के बाद बड़ा फैसला लिया है. अब उत्तर प्रदेश ऊर्जा विभाग ट्रांसमिशन और उत्पादन के साथ ही किसी भी काम के लिए चीन में निर्मित उपकरण का इस्तेमाल नहीं करेगा. इतना ही नहीं एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) द्वारा उत्तर प्रदेश के लिए मुहैया कराए गए और इंडोनेशिया से खरीदे गए स्मार्ट मीटर को भी उपभोक्ताओं के घरों पर लगाने पर रोक लगा दी है. इस मीटर की सप्लाई करने वाली इंडोनेशिया की कंपनी चीन की बताई जा रही है.

पावर कॉर्पोरेशन के निदेशक (वाणिज्य) ए. के. श्रीवास्तव ने लखनऊ आ चुके पीटी हेक्सिंग कंपनी के 8000 चीनी स्मार्ट मीटर लगाने पर रोक लगा दी है. उन्होंने इन चीनी स्मार्ट मीटर्स को उपभोक्ताओं के घर नहीं लगाने के निर्देश जारी किए हैं.

ये भी पढ़ें- सीमा विवाद पर भारत के कड़े रुख से ड्रैगन पस्त, LAC के 3 प्वाइंट से पीछे हटी चीनी सेना

राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने पिछले दिनों ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा से मिलकर इंडोनेशिया बेस्ड चीनी कंपनी की ओर से सप्लाई किए गए बिजली के मीटर लगाने पर आपत्ति जताई थी. इसके साथ ही केंद्र सरकार से उपक्रम एनर्जी एफिसिएंशी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) द्वारा खरीदे गए मीटर वापस करने तथा ऑर्डर रद्द करने की मांग भी की थी. मामले में ऊर्जा मंत्री ने अपर मुख्य सचिव ऊर्जा को जांच के निर्देश दिए थे, जिसके बाद ये कार्रवाई हुई है. इससे पहले भी राजधानी के कुछ घरों में चाइनीज मीटर लगवाए गए थे. इसमें बड़े पैमाने पर शिकायतें आने के बाद इन्हें उतरवाना पड़ा था. 

LIVE TV