UP में बनेगा धर्मांतरण रोकने के लिए कानून, स्टेट लॉ कमीशन ने सीएम योगी को सौंपी रिपोर्ट

देश के 10 राज्यों में धर्मांतरण का कानून पहले से ही लागू है. वहीं, अब यूपी में भी राज्य विधि आयोग ने कानून बनाने की सिफारिश की है.

UP में बनेगा धर्मांतरण रोकने के लिए कानून, स्टेट लॉ कमीशन ने सीएम योगी को सौंपी रिपोर्ट
फाइल फोटो...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश राज्य विधि आयोग (UP state law commission) ने सूबे में धर्मांतरण रोकने के लिए कानून बनाने की सिफारिश की है. स्टेट लॉ कमीशन ने यूपी में धर्मांतरण को लेकर एक रिपोर्ट तैयार की है. स्टेट लॉ कमीशन ने धर्मांतरण पर प्रभावी रोक लगाने के लिए कानून की सिफारिश की. उत्तर प्रदेश राज्य विधि आयोग के चेयरमैन न्यायमूर्ति आदित्यनाथ मित्तल और सचिव सपना त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को इस विषय से संबंधित रिपोर्ट सौंपी. सूत्रों की मानें तो, रिपोर्ट में कहा गया है कि यूपी में भी बड़े पैमाने पर जबरन धर्मांतरण हो रहा है. बताया जा रहा है कि रिपोर्ट के अनुसार, धर्म परिवर्तन के लिए लव जेहाद को भी कारण माना गया है. 

बताया जा रहा है कि रिपोर्ट में पहचान छुपाकर और प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन कराने की बात कही गई है. रिपोर्ट के अनुसार, यूपी में हिंदुओं और खासकर एससी/एसटी को प्रलोभन देकर धर्मांतरण कराया जाता है. बता दें कि यूपी विधानसभा में 1954 में धर्मांतरण पर सवाल पूछा गया था. वहीं, कुछ दिन पहले जौनपुर में एक साथ 300 लोगों के धर्मपरिवर्तन का मामला भी सामने आया था.

रिपोर्ट में कहा गया है कि यूपी के अलग-अलग जिलों में अभी भी धर्मांतरण हो रहा है. गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सीएम बनने से पहले भी धर्मांतरण पर कानून की मांग करते रहे हैं. देश के 10 राज्यों में धर्मांतरण का कानून पहले से ही लागू है. वहीं, अब यूपी में भी राज्य विधि आयोग ने कानून बनाने की सिफारिश की है.