close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रामपुर: आजम खान के शासन काल में बना था उर्दू गेट, प्रशासन ने चलाया 'पीला पंजा'

जानकारी के मुताबिक, बुधवार दिन निकलते ही भारी पुलिस फोर्स के साथ छह बुलडोजरों ने तीन घंटे में गेट ध्वस्त कर दिया गया. इस दौरान भारी पुलिस बल लगाई गई और मीडिया को भी दूर रखा गया.

रामपुर: आजम खान के शासन काल में बना था उर्दू गेट, प्रशासन ने चलाया 'पीला पंजा'
इस गेट की ऊंचाई बहुत कम थी.

रामपुर: रामपुर में सपा सरकार में नगर विकास मंत्री रहे आजम खान के उर्दू गेट पर प्रशासन ने बुलडोजर चल गया. आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी जाने वाले रास्ते पर नियम विरुद्ध बना उर्दू गेट अब प्रशासन ने देर रात नाकाबंदी कर तोड़ दिया गया. जानकारी के मुताबिक, बुधवार दिन निकलते ही भारी पुलिस फोर्स के साथ छह बुलडोजरों ने तीन घंटे में गेट ध्वस्त कर दिया गया. इस दौरान भारी पुलिस बल लगाई गई और मीडिया को भी दूर रखा गया.

 

गेट आजम खान ने सपा शासनकाल में यह गेट बनवाया था. इस गेट की ऊंचाई बहुत कम थी. इस कारण ट्रक और बस भी यहां से नहीं निकल पाते थे. सपा सरकार में स्थानीय कद्दावर नेता होने के चलते किसी ने शिकायत नहीं की. बीजेपी सरकार के आने के बाद बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने इसकी शिकायत की. शासन ने एसआईटी जांच भी कराई. जांच में गेट को अवैध माना गया.

 

जानकारी के मुताबिक, शहरी क्षेत्र में होने के बावजूद रामपुर विकास प्राधिकरण से भी स्वीकृति नहीं ली गई. गेट का निर्माण आजम खान की विधायक निधि और सी एंड डीएस के सेंटेज से कराया गया था. इस मामले में जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने भी शिकायत का संज्ञान लिया. उन्होंने अपर जिलाधिकारी प्रशासन की अध्यक्षता में कमेटी गठित की. कमेटी ने जिलाधिकारी को अपनी रिपोर्ट सौंप दी. 

 

समिति की जांच रिपोर्ट में उल्लेख है कि कम ऊंचाई होने की वजह से वाहन नहीं निकल पाते हैं. स्वार रोड पीडब्ल्यूडी की है, लेकिन इस गेट बनवाने के लिए विभाग ने भी अनुमति जारी नहीं की. जांच में गेट को नियम विरुद्ध बताया गया, जिसके बाद ये कार्रवाई की गई. डीएम ने बताया कि इसमें जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई और रिकवरी के लिए शासन को लिख दिया गया था, ये गेट 40 लाख की लागत से बनाया गया था.