लखनऊ: सर्वदलीय बैठक में अटल को श्रद्धांजलि, पारित किया गया शोक प्रस्ताव

मानसून सत्र शुरू होने से पहले सर्वदलीय बैठक में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए शोक प्रस्ताव पारित किया गया.

लखनऊ: सर्वदलीय बैठक में अटल को श्रद्धांजलि, पारित किया गया शोक प्रस्ताव
(फोटो साभार @myogiadityanath)

लखनउ: उत्तर प्रदेश सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए शोक प्रस्ताव पारित किया. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के दुःखद निधन पर उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से श्रद्धांजलि स्वरूप शोक प्रस्ताव पारित किया गया. यह जानकारी राज्य सरकार के प्रवक्ता एवं ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कैबिनेट बैठक के बाद यहां संवाददाताओं को दी. शर्मा ने बताया कि बैठक में वित्तीय वर्ष 2018-19 के लिए अनुपूरक अनुदान तथा तत्संबंधी विनियोग विधेयक के मसौदे को मंजूरी दी गयी .

श्रीकांत शर्मा ने बताया कि दंड प्रक्रिया संहिता में अग्रिम जमानत की व्यवस्था को कुछ शर्तों के साथ प्रदेश में पुनः लागू करने के लिए एक विधेयक विधानमंडल के आगामी सत्र में लाया जाएगा. वर्ष 1976 में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा-438 में दी गई अग्रिम जमानत की व्यवस्था को समाप्त कर दिया गया था.

 

 

उन्होंने कहा कि प्रस्तावित विधेयक में अग्रिम जमानत देने का अधिकार सेशन कोर्ट को भी होगा. पहले प्रदेश में हाईकोर्ट अग्रिम जमानत याचिकाएं सुनता था. अग्रिम जमानत ऐसे अपराधों के लिए नहीं मिलेगी, जिनमें अधिकतम सजा मृत्युदंड है. अग्रिम जमानत के प्रावधानों में केंद्रीय प्रारूप की शर्तें शामिल होंगी.

23 अगस्त से यूपी विधानसभा का मानसून सत्र शुरू, सुचारू रूप से सदन चलाने की अपील

बता दें, उत्तर प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र 23 अगस्त से शुरू हो रहा है. मानसून सत्र शुरू होने से पहले विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने सत्र को सुचारू रूप से संचालित करने हेतु सभी दलों के नेताओं से सहयोग प्रदान करने का अनुरोध किया है. विधानसभाध्यक्ष द्वारा बुलाई गई इस सर्वदलीय बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम रचनात्मक बहस, विचार-विमर्श को बढ़ावा के साथ अधिकतम चर्चा एवं अधिक समय तक सदन की कार्यवाही चलाने के लिए प्रतिबद्ध हैं. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार सभी विषयों पर चर्चा के लिए तैयार है. हम सदन में उठाए जाने वाले मुद्दों व जनता की समस्याओं के निराकरण के लिए भी तत्पर हैं. 

(इनपुट-भाषा)