उत्तर प्रदेशः 2 दिवसीय कार्य बहिष्कार पर हैं UPPCL के कर्मचारी, इस बात से हैं नाराज...

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में बिजली कर्मचारियों (Electrical workers) के पीएफ (Provident Fund) में हुए घोटाले को लेकर चल रहे 2 दिवसीय कार्य बहिष्कार पर UPPCL कर्मचारियों में दो फाड़ हो गया है.

उत्तर प्रदेशः 2 दिवसीय कार्य बहिष्कार पर हैं UPPCL के कर्मचारी, इस बात से हैं नाराज...
(फाइल फोटो)

लखनऊः उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में बिजली कर्मचारियों (Electrical workers) के पीएफ (Provident Fund) में हुए घोटाले को लेकर चल रहे 2 दिवसीय कार्य बहिष्कार पर UPPCL कर्मचारियों में दो फाड़ हो गया है. पावर ऑफिसर्स एसोसिएशन ने कार्य बहिष्कार से किनारा किया है. पावर ऑफिसर्स एसोसिएशन के कार्यवाहक अध्यक्ष अवधेश वर्मा ने सरकार को वक्त देने की बात कही है. अवधेश वर्मा ने कहा कि सरकार ने हमारी 2 मांगें मान ली हैं, तीसरी फण्ड वापसी की मांग पर सरकार सकारात्मक आश्वासन दे रही है. ऐसे में बिजली कर्मियों के कार्य बहिष्कार में एसोसिएशन के सदस्य शामिल नहीं हैं.

अवधेश वर्मा ने कार्य बहिष्कार की बजाय पावर ऑफिसर्स एसोसिएशन के सदस्यों से विद्युत व्यवस्था संभालने की अपील की है. बिजली कर्मियों के कार्य बहिष्कार से निपटने के लिए शासन भी तैयार है. अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने सभी जिलों के जिलाधिकारी और पुलिस कप्तान को अलर्ट भेजा है.

उत्तर प्रदेश EPF घोटाले में दो पूर्व अधिकारी गिरफ्तार, CBI करेगी मामले की जांच

अपर मुख्य सचिव गृह  ने साफ संदेश दिया है कि अगर कहीं भी तोड़फोड़ की गई तो FIR दर्ज होगी और अगर किसी को हड़ताल के लिए उकसाया तो केस भी होगा. अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने सभी पावर स्टेशनों की सुरक्षा के भी निर्देश दिए हैं. कार्य बहिष्कार कर रहे कर्मचारियों की मांग है कि सरकार उनके PF भुगतान की लिखित गारंटी दे और इस मामले में आरोपी अधिकारी के खिलाफ भी कार्रवाई हो. कर्मचारी आलोक कुमार की जल्द से जल्द गिरफ्तारी हो.