क्या है डिजीलॉकर? जिसके इस्तेमाल के लिए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने की अपील
X

क्या है डिजीलॉकर? जिसके इस्तेमाल के लिए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने की अपील

डिजीलॉकर (DigiLocker) या  डिजिटल लॉकर (Digital Locker) एक तरह का वर्चुअल लॉकर है. इसका इस्तेमाल करके आप अपने सारे डॉक्‍यूमेंट्स को ऑनलाइन सेव कर सकते हैं.

क्या है डिजीलॉकर? जिसके इस्तेमाल के लिए डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने की अपील

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने आज यानी 23 नवंबर को डिजीलॉकर को लेकर एक ट्ववीट किया है. उन्होंने लोगों से अपील की आप सभी डिजीलॉकर का इस्तेमाल करें. इसके यूज से आप अपने दस्तावेजों को सुरक्षित रख सकतें और और कहीं से भी एक्सेस कर सकतें हैं. ऐसे में बहुत सारे लोगों के मन में ये सवाल आ रहा होगा कि ये डिजीलॉकर है क्या है और इसे कैसे इस्तेमाल करते हैं.  

क्या है DigiLocker?
डिजीलॉकर (DigiLocker) या  डिजिटल लॉकर (Digital Locker) एक तरह का वर्चुअल लॉकर है. इसका इस्तेमाल करके आप अपने सारे डॉक्‍यूमेंट्स को ऑनलाइन सेव कर सकते हैं. डिजीलॉकर में आप अपने पैन कार्ड, वोटर आईडी, पासपोर्ट, स्कूल-कॉलेज के रिसल्ट आदि चीजें  स्टोर कर सकते हैं. बता दें,  डिजीलॉकर खाता खोलने के लिए आपके पास आधार कार्ड का होना जरूरी है.

UP Scholarship:दिसंबर तक स्टूडेंट्स के खाते में आ जाएंगे छात्रवृत्ति के पैसे, जानें किन छात्रों को नहीं मिलेगा लाभ

ये हैं डिजिटल लॉकर के लाभ
1. डिजिटल लॉकर के जरिए आपको डॉक्यूमेंट की हार्ड कॉपी हर समय अपने साथ नहीं रखनी होगी. 
2. एक बार में आपने इसमें सब सेव कर लिया तो आपको सारे जरूरी पेपर कहीं भी साथ ले जाने की जरूरत नहीं होगी.
3. आप ऑनलाइन डिजिटल लॉकर से अपने डॉक्यूमेंट कहीं भी दे सकते हैं.
4. अगर किसी वजह से आपका कोई डॉक्यूमेंट खो जाता है, तभी आपके पास आपके डॉक्यूमेंट सुरक्षित रहेंगे.
5. इसकी सबसे अच्छी बात ये है कि डिजिटल लॉकर में अपके पेपर सिर्फ आप ही इस्तेमाल कर सकते. कोई और आपके डॉक्यूमेंट को यूज नहीं कर सकता है.

बागपत पहुंचे केंद्रीय राज्यमंत्री वीके सिंह, दिल्ली-देहरादून ग्रीन एक्सप्रेस-वे का किया निरीक्षण

स्टेप बाई स्टेप जानें पूरा प्रोसेस...
1. सबसे पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपका फोन नंबर आधार के साथ रजिस्टर्ड है या नहीं. अगर नंबर रजिस्टर्ड नहीं होगा तो आप इसका इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे.
2. सबसे पहले आप  digilocker.gov.in या digitallocker.gov.in पर जाएं. इसके बाद आपके सामने एक पेज खुल जाएगा.
3. अब आपको इस पेज के ऊपर दाईं ओर साइन अप (SIGN UP) के बटन पर क्लिक करना है.
4. अब अपना नाम, जन्मदिन, रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, पासवर्ड डालें और पासवर्ड बनाए. 
5. खुले हुए पेज पर आपको आधार नंबर एंटर करना होगा. जैसे ही आप आधार नंबर एंटर करेंगे आपको 2 विकल्प मिलेंगे. OTP और फिंगरप्रिंट. आप इनमें से किसी भी ऑप्शन का इस्तेमाल कर सकते हैं.
6. इसके बाद यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. अब आपको यूजरनेम और पासवर्ड क्रिएट करना होगा, जिसकी मदद से आप DigiLocker को लॉग-इन करके इसका इस्तेमाल कर सकते हैं.
7. आपको बता दें, आप इसे एंड्रॉइड के गूगल प्ले स्टोर और एप्पल के ऐप स्टोर से भी डाउनलोड करके इस्तेमाल कर सकते हैं.

UP Free Ration: इस महीने से मिलेगा फ्री में दाल, नमक और तेल, जानें प्रोसेस

इस तरीके से करें अपलोड
1. सबसे पहले DigiLocker में लॉग-इन करने के बाद आपके पर्सनल अकाउंट में दो सेक्शन दिखाई देंगे.
2. पहले सेक्शन में अलग-अलग एजेंसियों द्वारा जारी सर्टिफिकेट, उनके यूआरएल(लिंक), जारी करने की डेट और शेयर करने का ऑप्शन मिलेगा.
3. वहीं, दूसरे सेक्शन में आपके द्वारा अपलोड किए गए सर्टिफिकेट, डिटेल्स और ई-साइन का ऑप्शन होगा.
4. डॉक्यूमेंट अपलोड करने के लिए दिए गए ऑप्शन में से आप अपने अनुसार विकल्प चुन सकते हैं. 
5. अगर आप सर्टिफिकेट अपलोड करना चाहते हैं तो माई सर्टिफिकेट पर क्लिक करें. इसके बाद अपलोड डॉक्युमेंट पर क्लिक कर अपने सर्टिफिकेट को चुनें. ऐसे आप अपने सारे डक्यूमेंट डिजिटल लॉकर में अपलोड कर सकते हैं.

WATCH LIVE TV

Trending news