डिप्टी CM मौर्य ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा- किसानों को गुमराह करने वाले नेता हुए बेरोजगार, नहीं आएगी आज रात नींद
topStorieshindi

डिप्टी CM मौर्य ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा- किसानों को गुमराह करने वाले नेता हुए बेरोजगार, नहीं आएगी आज रात नींद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने तीनों कृषि कानून (Farm Laws) वापस लेने का ऐलान कर दिया है. इस फैसले पर राजनीतिक दलों ने मिली-जुली प्रतिक्रिया दी है. इसी कड़ी में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने विपक्ष पर ट्वीट कर निशाना साधा है.

डिप्टी CM मौर्य ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा- किसानों को गुमराह करने वाले नेता हुए बेरोजगार, नहीं आएगी आज रात नींद

लखनऊ:  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने तीनों कृषि कानून (Farm Laws) वापस लेने का ऐलान कर दिया है. इस फैसले पर राजनीतिक दलों ने मिली-जुली प्रतिक्रिया दी है. एक ओर जहां बीजेपी नेता इसे किसानों के हित में बता रहे हैं. वहीं, विपक्षी दल इस फैसले में देरी के लिए सरकार की आलोचना कर रहे हैं. इसी कड़ी में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य (Keshav Prasad Maurya) ने विपक्ष पर ट्वीट कर निशाना साधा है. 

डिप्टी सीएम मौर्य ने ट्वीट कर कहा, 'तीनों कृषि क़ानून वापस लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अभिनन्दन करता हूं, किसान आन्दोलन के नाम पर चुनाव आन्दोलन करने वाले दलों और नेताओं को बेरोज़गार हो गए साज़िश अब सफल नहीं होगी कमल खिला है खिला रहेगा.

वहीं, अपने दूसरे ट्वीट में उन्होंने विपक्षी दलों पर साधते हुए लिखा, 'भाजपा किसानों के लिए सब कुछ करने को तैयार थी है और रहेगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा विरोधी विपक्षी दलों और नेताओं को जो किसानों को गुमराह कर रहे थे बेरोज़गार कर दिया है, किसानों के नाम पर राजनीतिक दुकान चलाने वालों को आज रात नींद नहीं आयेगी.' 

 

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, 'अमीरों की भाजपा ने भूमिअधिग्रहण व काले क़ानूनों से ग़रीबों-किसानों को ठगना चाहा. कील लगाई, बाल खींचते कार्टून बनाए, जीप चढ़ाई लेकिन सपा की पूर्वांचल की विजय यात्रा के जन समर्थन से डरकर काले-क़ानून वापस ले ही लिए.'

इसके अलावा बसपा प्रमुख मायावती ने इस फैसले पर कहा कि किसानों का बलिदान रंग लाया है. 3 कृषि कानूनों को निरस्त करने का निर्णय बहुत पहले ही हो जाना चाहिए था. फिर भी किसानों की एमएसपी पर कानून की मांग लंबित है. बसपा की मांग है कि संसद के आगामी सत्र में केंद्र इस संबंध में (एमएसपी पर) कानून लाए.

बता दें, कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरु नानक जयंती के अवसर पर राष्ट्र के नाम संबोधन में तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने की घोषणा की. इसकी घोषणा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार तीनों कृषि कानूनों को नेक नीयत के साथ लाई थी, लेकिन ये बात हम किसानों को समझा नहीं पाए. इसके बाद से जहां एक तरफ किसान इस बात का जश्न मना रहे हैं तो वहीं यूपी में सियासत गर्माने लगी है. 

WATCH LIVE TV

 

 

Trending news