चुनाव आयोग ने दिया संकेत, UP 20 दिसंबर के बाद कभी भी लागू हो सकती है आदर्श चुनाव आचार संहिता
X

चुनाव आयोग ने दिया संकेत, UP 20 दिसंबर के बाद कभी भी लागू हो सकती है आदर्श चुनाव आचार संहिता

निर्वाचन आयोग ने उत्तर प्रदेश में लम्बे समय से एक स्थान पर तैनात अधिकारियों व कर्मचारियों का तत्काल प्रभाव से ट्रांसफर करने का निर्देश जारी कर दिया है. 

चुनाव आयोग ने दिया संकेत, UP 20 दिसंबर के बाद कभी भी लागू हो सकती है आदर्श चुनाव आचार संहिता

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Vidhansabha Chunav 2022) के लिए सभी पार्टियों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं. दल जातीय और धार्मिक समीकरण साधने की कवायद में जुटे हैं. नेता भी अपने अनुकूल परिस्थितियां देखकर दलबदली करने लगे हैं. इन सबके बीच चुनाव आयोग (UP Nirvachan Aayog) भी पूरी मुस्तैदी से यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटा है. वोटर लिस्ट वेरिफिकेशन और अपडेटेड वोटर लिस्ट पर काम चल रहा है.

इस बात की पूरी संभावना है कि भारतीय चुनाव आयोग (Election Commission of India) उत्तर प्रदेश में 20 दिसंबर के बाद कभी भी आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू कर दे. योगी आदित्यनाथ सरकार का कार्यकाल 14 मई 2022 तक है. लेकिन यूपी के साथ चार अन्य राज्यों गोवा, पंजाब, मणिपुर और उत्तराखंड में भी चुनाव होने हैं. इन राज्यों में सरकारों का कार्यकाल यूपी सरकार से पहले समाप्त हो रहा है. ऐसे में योगी सरकार का कार्यकाल पूरा होने से दो महीना पहले ही यूपी में चुनाव होगा.

राम के वनवास का वियोग नहीं झेल पाए 'राजा दशरथ' बने राजेंद्र, रामलीला के मंच पर सच में निकला प्राण

निर्वाचन आयोग ने उत्तर प्रदेश में लम्बे समय से एक स्थान पर तैनात अधिकारियों व कर्मचारियों का तत्काल प्रभाव से ट्रांसफर करने का निर्देश जारी कर दिया है. चुनाव आयोग के निर्देश पर अब एक ही जिले में तीन-चार वर्ष का कार्यकाल पूरा कर चुके अधिकारियों व कर्मचारियों को हटाने की प्रक्रिया शीघ्र प्रारंभ हो जाएगी. निर्वाचन आयोग ने गोवा, मणिपुर, पंजाब व उत्तराखंड सरकार को भी यह निर्देश भेजा है.

UP के नए मेडिकल कॉलेजों में इसी सत्र से ले सकेंगे प्रवेश, NEET के जरिए होंगे एडमिशन

संभव है कि गोवा, मणिपुर, पंजाब व उत्तराखंड के साथ यूपी में भी जनवरी 2022 के आखिरी सप्ताह से फरवरी के बीच चुनाव संपन्न करा लिए जाएं. उत्तर प्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग ने 1 नवंबर से मतदाता संक्षिप्त पुनरीक्षण की तैयारी की है. इसका काम एक से 30 नवंबर तक होगा. प्रदेश में मतदाता संक्षिप्त पुनिरीक्षण का विशेष अभियान सम्पन्न होने के बाद 20 दिसम्बर तक दावे और आपत्तियों का निस्तारण होगा. इसके बाद पांच  जनवरी 2022 को मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन होगा.

WATCH LIVE TV

Trending news