जेल में बंद आजम खान, मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद की बढ़ीं मुश्किलें, मनी लॉन्ड्रिंग केस में कुंडली खंगालेगी ED

कोर्ट से ओपन परमिशन मिलने के बाद ईडी की टीम आज यानी सोमवार को किसी भी वक्त यूपी के सीतापुर जेल में बंद सपा सांसद आजम खान से पूछताछ के लिए  पहुंच सकती है.

जेल में बंद आजम खान, मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद की बढ़ीं मुश्किलें, मनी लॉन्ड्रिंग केस में कुंडली खंगालेगी ED
सपा नेता आजम खान, माफिया मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद.

सीतापुर: यूपी की अलग-अलग जेलों में बंद सपा नेता आजम खान, माफिया मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. अब प्रवर्तन निदेशालय (ED) मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तीनों नेताओं की कुंडली खंगलेगा. कोर्ट से परमिशन मिलने के बाद ईडी की टीम जल्द ही इनसे जेल में जाकर पूछताछ करेगी. 

प्रवर्तन निदेशालय के मुताबिक, इन तीनों नेताओं के खिलाफ पूर्व में मनी लॉन्ड्रिंग मामले में मुकदमा दर्ज किया था. अब ईडी को कोर्ट से इन तीनों नेताओं को कस्टडी में लेकर पूछताछ करने की अनुमति मिल गई है. इसके बाद ईडी की टीम जल्द ही तीनों नेताओं से पूछताछ कर सकती है.

ये भी पढ़ें- ओवैसी की धमकी के बाद साक्षी महाराज ने IAS दिव्यांशु पटेल की सुरक्षा में लिखा पत्र, दो गनर्स की मांग

आज आजम से कर सकती है पूछताछ
कोर्ट से ओपन परमिशन मिलने के बाद ईडी की टीम आज यानी सोमवार को किसी भी वक्त यूपी के सीतापुर जेल में बंद सपा सांसद आजम खान से पूछताछ के लिए  पहुंच सकती है. हालांकि, इस बारे में जेल अधीक्षक से पूछा गया तो उन्होंने इस बात से फिलहाल इनकार किया है. वहीं, सपा सांसद से पूछताछ के बाद ईडी की टीम अगले हफ्ते बसपा विधायक मुख्तार अंसारी और अहमदाबाद जेल में बंद अतीक अहमद से भी पूछताछ करेगी. 

ये भी पढ़ें- घर पर छूट गया था बैग तो पूर्व IAS अधिकारी ने राजधानी एक्सप्रेस की कर दी चेन पुलिंग, RPF के TI को दी वर्दी उतरवाने की धमकी

आजम पर जमीन हड़पने का आरोप 
सीतापुर जेल में बंद आजम खान पर किसानों की जमीन हड़पने का आरोप है. इसके अलावा रामपुर में बनी मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी के लिए जमीन की खरीद-फरोख्त और नियमों की अनदेखी कर सरकारी जमीन पर कब्जा करने और सरकारी पैसों का इस्तेमाल करने का आरोप है. अब ईडी इस मामले में आजम खान से पूछताछ करेगी.

माफिया मुख्तार पर ये हैं आरोप 
माफिया मुख्तार पर ईडी ने बीती एक जुलाई को मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया था. आरोप है कि मुख्तार अंसारी ने एक सरकारी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा किया और फिर उसे सात साल के लिए 1.7 करोड़ रुपये प्रति वर्ष के हिसाब से एक प्राइवेट कंपनी को किराए पर दे दिया. ईडी इस मामले में माफिया पर शिकंजा कसेगी. 

ये भी पढ़ें- Petrol Price Today: लगातार 15वें दिन स्थिर हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें, जानें अपने शहर में प्रति लीटर का रेट

 

अतीक अहमद पर हैं ये आरोप 
माफिया अतीक अहमद के खिलाफ भी ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग का मुकदमा दर्ज किया था. दरअसल, पिछले साल पुलिस ने अतीक की कुल 16 कंपनियां चिह्नित की थीं. आरोप है कि इनमें से कई कंपनियां बेनामी थीं. इनमें नाम तो किसी और का है लेकिन परोक्ष रूप से पैसा अतीक अहमद का लगा है. वहीं, ज्यादातर कंपनियां रियल इस्टेट से संबंधित है. जानकारी के मुताबिक इन कंपनियों का लेनदेन करोड़ों में है. ऐसे में ईडी जल्द ही माफिया से इस मामले को लेकर पूछताछ करेगी. 

WATCH LIVE TV