पिंजरे में कैद Parrots पर पड़ी मेनका गांधी की नजर, गाड़ी रुकवाई और कर दिया आजाद

सांसद मेनका गांधी अपने दौरे के दूसरे दिन कादीपुर के बस स्टेशन के पुनर्निर्माण के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम में जा रही थीं. तभी रास्ते में गोसाईगंज बाजार में एक मिठाई की दुकान पर उन्होंने देखा कि वहां कुछ तोते पिंजरे में कैद थे.

पिंजरे में कैद Parrots पर पड़ी मेनका गांधी की नजर, गाड़ी रुकवाई और कर दिया आजाद
तोते को पिंजरे से मुक्त करवातीं मेनका गांधी.

सुल्तानपुर: सुल्तानपुर सांसद मेनका गांधी एक बार फिर पशु प्रेम को लेकर सुर्खियों में है. इस बार उन्होंने पिंजरों में कैद पक्षियों को खुले आसमान में छोड़कर उन्हें आजादी दिलाई. यह वाक्या उस दौरान हुआ जब सोमवार को सांसद अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे पर जा रही थीं. बता दें कि मेनका गांधी सुल्तानपुर के तीन दिवसीय दौरे पर हैं. 

दुकानदार को लगाई फटकार 
सांसद मेनका गांधी अपने दौरे के दूसरे दिन कादीपुर के बस स्टेशन के पुनर्निर्माण के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम में जा रही थीं. तभी रास्ते में गोसाईगंज बाजार में एक मिठाई की दुकान पर उनकी निगाह पड़ी. उन्होंने देखा कि दुकान में कुछ तोते पिंजरे में कैद थे. यह देखते ही उन्होंने तत्काल अपनी गाड़ी को रुकवाया. उन्होंने दुकानदार को फटकार लगाते हुए तोतों को पिंजरे सहित अपने कब्जे में ले लिया और आगे बढ़ गईं. 

ये भी पढ़ें- मऊ में कानूनगो ने खेत नपाई के लिए DM के नाम पर किसान से घूस में लिया ढाई क्विंटल भूसा

जंगल में ले जाकर किया आजाद 
आगे चलकर मोतिगरपुर ब्लॉक के भैरोपुर के रास्ते में पड़े जंगल में सभी तोतों को पिंजरे से आजाद कर दिया. इस दौरान मेनका ने कहा कि पक्षियों को कैद करके रखना कानूनन अपराध है. उन्हें उड़ने के लिए खुला आसमान चाहिए. आज आजाद किए गए परिंदों को ऐसी जगह पर छोड़ा गया है जहां उनके लिए भोजन, पानी और छांव मिल सके. इस दौरान उन्होंने  लोगों से अपील करते हुए कहा कि पशु-पक्षियों का उत्पीड़न न करें. परिंदों को जंगल में आजाद करने के बाद सांसद यहां से अपने कार्यक्रम के लिए रवाना हो गईं. वहीं, मेनका गांधी के पशु प्रेम को देखकर लोगों ने उनके इस काम की सराहना की. 

ये भी देखें- ट्रेन पकड़ते वक्त आप भी करते हैं ऐसी गलती तो एक बार देख लें यह VIDEO

 

WATCH LIVE TV