वाराणसी में कांग्रेस की 'किसान न्याय रैली' में जनता से बोलीं प्रियंका, 'यह देश आपका है, इसे बचाइये'

कांग्रेस पार्टी ने रविवार को वाराणसी में 'किसान न्याय रैली' से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव अभियान की शुरुआत की. पार्टी महासचिव व यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी  रैली को संबोधित करने से पहले प्रियंका गांधी ने काशी विश्वनाथ और दुर्गा मंदिर में दर्शन पूजन किया. फिर जनसभा को संबोधित किया.

वाराणसी में कांग्रेस की 'किसान न्याय रैली' में जनता से बोलीं प्रियंका, 'यह देश आपका है, इसे बचाइये'
प्रियंका गांधी वाड्रा वाराणसी में कांग्रेस पार्टी की किसान न्याय रैली को संबोधित करते हुए.

वाराणसी: कांग्रेस पार्टी ने रविवार को वाराणसी में 'किसान न्याय रैली' से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव अभियान की शुरुआत की. पार्टी महासचिव व यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी  रैली को संबोधित करने से पहले प्रियंका गांधी ने काशी विश्वनाथ और दुर्गा मंदिर में दर्शन पूजन किया. फिर जनसभा को संबोधित किया. प्रियंका गांधी ने अपने भाषण की शुरुआत सोनभद्र की घटना से की. उन्होंने कहा कि जब मैंने यहां कार्यभार ग्रहण किया, सोनभद्र में पुलिस प्रशासन के सहयोग से आदिवासी किसानों की जमीन पर कब्जा कर लिया गया. 

भाषण में सोनभद्र के उम्भा कांड से हाथरस और लखीमपुर तक का जिक्र
उम्भा कांड का जिक्र करते हुए प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, ''जमीन पर कब्जे का विरोध करने पर 13 आदिवासियों की गोली मारकर हत्या कर दी गई. जब मैं वहां मिलने पहुंची तो गिरफ्तार कर लिया गया. उस मामले में भाजपा के एक पूर्व विधायक इंवॉल्व थे. कोरोना में हर तरफ से यही खबर आई कि भाजपा सरकार कुछ नहीं कर रही है. ऑक्सीजन नहीं होने पर अस्पतालों पर कार्रवाई की गई. उसके बाद हाथरस की घटना हुई. सरकार ने अपराधियों को नहीं रोका. बेटी की चिता जलाने से सरकार ने नहीं रोका. उस परिवार ने भी यही कहा कि हमें न्याय चाहिए.''

प्रियंका ने कहा, पीएम मोदी ने प्रदर्शन कर रहे किसानों को 'आंदोलनजीवी' और आतंकवादी कहा. योगी जी ने उन्हें गुंडे कहा और उन्हें धमकाने की कोशिश की. मंत्री (अजय मिश्रा टेनी) ने कहा कि वह 2 मिनट के भीतर विरोध करने वाले किसानों को सुधार देंगे. लखीमपुर खीरी में जो हुआ, उसे पूरे देश ने देखा है. गृहराज्य मंत्री के बेटे ने गाड़ी से किसानों को निर्ममता से कुचल दिया. उनके परिजन कह रहे हैं कि हमें पैसे नहीं चाहिए, मुआवजा नहीं चाहिए, हमें न्याय चाहिए. 

''मुख्य आरोपी को पुलिस ने निमंत्रण भेजा कि आइये हमसे बात कीजिये''
प्रियंका गांधी ने कहा कि यह सरकार किसानों को न्याय दिलवाने वाली नहीं दिख रही. सरकार केंद्रीय गृहराज्य मंत्री और उनके बेटे को बचाने में लगी रही. प्रशासन विपक्ष को रोकने में लगा रहा. पीड़ित परिवारों को भी नजरबंद किया गया. अपराधियों को नहीं पकड़ा गया. मुख्य आरोपी को पुलिस ने निमंत्रण भेजा कि आइये हमसे बात कीजिये. किसी देश में ऐसा हुआ है कि किसी ने छह लोगों को कुचल दिया हो और उसे निमंत्रण दिया गया कि आइये हमसे बात कीजिये? प्रियंका ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री उस मंत्री का बचाव कर रहे हैं जिसके बेटे ने इतना जघन्य अपराध किया है.

''इस देश में केवल भाजपा नेता और दूसरे उनके खरपति मित्र सुरक्षित हैं''
पीएम मोदी मोदी पर निशाना साधते हुए प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, ''वह लखनऊ आए लेकिन किसानों के घर दुख बांटने नहीं जा सके. आप आजादी का उत्सव मना रहे हैं, लेकिन आजादी किसने दी? आजादी किसानों के बेटों ने दी है. इस उत्सव का क्या मतलब है. इस देश में सिर्फ दो तरह के लोग सुरक्षित हैं. एक भाजपा नेता और दूसरे उनके खरपति मित्र. इस देश में किसी धर्म का व्यक्ति सुरक्षित नहीं है. न किसी जाति का व्यक्ति सुरक्षित है. न महिलाएं सुरक्षित हैं और न ही कोई किसान-दलित सुरक्षित है. सच्चाई को पहचानिये. आप किस चीज से डर रहे हैं? डरिये नहीं, समय आ गया है. चुनाव की बात नहीं है, अब देश की बात है.''

''हम किसी से नहीं डरते हैं, गृहराज्य मंत्री के इस्तीफे तक लड़ते रहेंगे''
प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, ''यह देश भाजपा के पदाधिकारियों, उनके मंत्रियों की जागीर नहीं है. यह देश आपका है. इस देश को कौन बचाएगा? अगर आप जागरूक नहीं बनेंगे समझदार नहीं बनेंगे. इनकी राजनीति में उलझे रहेंगे तो आप परेशान रहेंगे. आप किसान हो. आपकी मेहनत ने इस देश को बनाया है. जो आपको आंदोलनजीवी कहते हैं, आपको आतंकवादी कहते हैं, उन्हें न्याय देने के लिए मजबूर कीजिये. हम किसी से नहीं डरते हैं. जब तक गृहराज्य मंत्री इस्तीफा नहीं देंगे, हम लड़ते रहेंगे.''

''प्रधानमंत्री ने अपने अरबपति दोस्त को एयर इंडिया 18,000 करोड़ बेची''
प्रियंका ने पीएम मोदी पर सीधा हमला करते हुए ​कहा, ''उन्होंने पिछले साल 16,000 करोड़ रुपये में अपने लिए दो विमान खरीदे थे. उन्होंने अरबपति दोस्त को सिर्फ 18,000 करोड़ रुपये में देश की पूरी एयर इंडिया बेच दी. अपने आप को गंगापुत्र कहने वाले हमारे प्रधानमंत्री ने गंगापुत्रों का अपमान किया है. किसान बुरी तरह परेशान हैं. इन्होंने देखा है कि आवारा पशु किस तरह उन्हें तबाह कर रहे हैं. क्या प्रधानमंत्री ने आवारा पशुओं को देखा है, लेकिन मैंने देखा है. बिजली के दाम तीन बार बढ़ा दिये गए हैं. बिजली नहीं मिल रही है लेकिन बिजली के बिल मिल रहे हैं.''

''किसानों की जमीन पर सरकार के अरब​पति मित्र कब्जा करना चाहते हैं''
कांग्रेस महासचिव ने आगे कहा, ''उत्तर प्रदेश का हर किसान दुखी है. धान-गेहूं का दाम नहीं मिल रहा है. खेती के उपकरणों पर जीएसटी लगा रखी है. 100 रुपये का पेट्रोल, 90 का डीजल और हजार रुपये का गैस सिलेंडर मिल रहा है. कोयला खत्म हो रहा है. बेरोजगारी चरम पर है. जहां-जहां जाओ बेरोजगार युवा मिलते हैं. तीन सौ दिनों से किसान आंदोलन कर रहे हैं. इस दौरान 600 किसानों की मौत हो चुकी है. किसान इसलिए आंदोलन कर रहे हैं कि उनकी आमदनी, जमीन और खेती पर सरकार के अरबपति दोस्त कब्जा करना चाहते हैं.''

WATCH LIVE TV