वाराणसी में कल कांग्रेस की ''किसान न्याय रैली'', प्रियंका गांधी को ​पोस्टर में देवी दुर्गा का रूप दिखाया

प्रियंका गांधी रविवार को वाराणसी में 'किसान न्याय रैली' से पहले शक्ति पीठ मां कुष्मांडा देवी के मंदिर में पूजा अर्चना करेंगी. कांग्रेस का दावा है कि इस रैली में बड़ी संख्या में किसान पहुंच रहे हैं.

वाराणसी में कल कांग्रेस की ''किसान न्याय रैली'', प्रियंका गांधी को ​पोस्टर में देवी दुर्गा का रूप दिखाया
वाराणसी में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रियंका गांधी को पोस्टर में देवी दुर्गा के रूप में दिखाया.

वाराणसी: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा वाराणसी से उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के अभियान का आगाज करने वाली हैं. प्रियंका की 10 अक्टूबर को वाराणसी में 'किसान न्याय रैली' होने वाली है. इससे पहले उत्साहित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नवरात्र के मौके पर प्रियंका गांधी पोस्टर जारी किया है, जिसमें उन्हें देवी दुर्गा के अवतार में दिखाया गया है. साथ ही लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर संदेश भी दिया गया है.  

UP के 42 जिलों में एक्टिव केस जीरो, 67 जिलों में कोई नया केस नहीं, देखें ताजा आंकड़े

प्रियंका गांधी रविवार को वाराणसी में 'किसान न्याय रैली' से पहले शक्ति पीठ मां कुष्मांडा देवी के मंदिर में पूजा अर्चना करेंगी. कांग्रेस का दावा है कि इस रैली में बड़ी संख्या में किसान पहुंच रहे हैं. पहले इस रैली का शीर्षक 'कांग्रेस प्रतिज्ञा यात्रा, हम वचन निभाएंगे' था, जिसे बदलकर 'किसान न्याय रैली, चलो बनारस' कर दिया गया है.

कांशीराम की पुण्यतिथि पर महारैली, मायावती ने कहा- UP को आ रही बसपा शासन की याद

प्रियंका गांधी की प्रस्तावित रैली वाराणसी के जगतपुर इंटर कॉलेज में रविवार सुबह 11:00 बजे से शुरू होगी. कांग्रेस पार्टी ने अपनी रणनीति में बदलाव किया है. यूपी में पार्टी अब लखीमपुर खीरी की घटना और किसानों के मुद्दे को बढ़-चढ़कर उठाएगी. लखीमपुर खीरी हिंसा के बाद से कांग्रेस पार्टी केंद्र और योगी सरकार पर हमलावर है. प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस मुद्दे को एक तरह से बसपा और सपा के हाथों से छीन लिया है.

अमेठी: शासन ने Kumar Vishwas पर चल रहे 3 केस वापस लिए, इन आरोपों में दर्ज हुई थी FIR

 

प्रियंका गांधी का कहना है कि लखीमपुर हिंसा की जिम्मेदारी यूपी सरकार लेनी चाहिए. आरोपियों को बचाया जा रहा है. पीड़ितों को सरकार का पैसा नहीं बल्कि न्याय चाहिए. प्रियंका गांधी ने इस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट या हाई कोर्ट के सीटिंग जज से कराने की मांग रखी है. उनका कहना है कि जब तक अजय मिश्रा टेनी गृह राज्य मंत्री बने रहेंगे तब तक इस मामले में निष्पक्ष जांच संभव नहीं है. गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी हिंसा में 4 किसानों सहित 8 लोगों की मौत हो गई थी. 

WATCH LIVE TV