UP Chunav 2022 में प्रत्याशी प्रचार में इतने लाख से ज्यादा नहीं कर सकेंगे खर्च, चुनाव आयोग ने तय की खर्च सीमा
X

UP Chunav 2022 में प्रत्याशी प्रचार में इतने लाख से ज्यादा नहीं कर सकेंगे खर्च, चुनाव आयोग ने तय की खर्च सीमा

  भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आगामी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों (UP Election 2022) की निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण की गहन समीक्षा की.

UP Chunav 2022 में प्रत्याशी प्रचार में इतने लाख से ज्यादा नहीं कर सकेंगे खर्च, चुनाव आयोग ने तय की खर्च सीमा

लखनऊ:  भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से आगामी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों (UP Election 2022) की निर्वाचक नामावलियों के पुनरीक्षण की गहन समीक्षा की. साथ ही विधानसभा चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार की चुनाव प्रचार खर्च सीमा भी तय की गई है. 

इतनी राशि खर्च कर सकेंगे उम्मीदवार
उत्तर प्रदेश में इस बार विधान सभा चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार (Candidate) कुल 30 लाख 80 हजार रुपये अपने चुनाव प्रचार पर खर्च कर सकेंगे.  पहले यह चुनाव खर्च सीमा 28 लाख रुपये थी. 

निर्वाचन आयोग के अधिकारियों की हुई बैठक
भारत निर्वाचन आयोग के सेक्रेटरी जनरल उमेश सिन्हा व सीनियर डिप्टी इलेक्शन कमिश्नर सुदीप जैन, डिप्टी इलेक्शन कमिश्नर  चंद्र भूषण कुमार ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी, उत्तर प्रदेश  अजय कुमार शुक्ला एवं समस्त मंडलायुक्त (रोल आब्जर्वर) अपर आयुक्त(रोल आब्जर्वर), जिला निर्वाचन अधिकारियों, उप जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ आगामी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों का संक्षिप्त पुनरीक्षण-2022 की गहन समीक्षा वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की है. 

सेक्रेटरी जनरल ने मतदाता पंजीकरण के संबंध में दिए निर्देश 
वीडियो कॉफ्रेंसिंग में सेक्रेटरी जनरल ने निर्देश देते हुए कहा कि मतदाता पंजीकरण का कार्य पूर्ण निष्ठा एवं ईमानदारी से किया जाए. किसी भी मतदाता का नाम मतदाता सूची में सम्मिलित होने से छूटने न पाए. उन्होंने कहा कि 01 जनवरी 2022 को 18 वर्ष की आयु पूरी करने वाले नए मतदाताओं के पंजीकरण पर विशेष ध्यान दिया जाए. साथ ही पंजीकरण के लिए प्राप्त आवेदनों में छोटी-छोटी गलतियां होने पर उन्हें निरस्त न किया जाए, बल्कि बीएलओ घर-घर जाकर ऐसे फार्मों की गलतियों को सुधारने का कार्य करें. 

सिन्हा ने कहा कि सभी जिला निर्वाचन अधिकारी निरस्त फार्मों की गहनता से मॉनीटरिंग करें. उन्होंने कहा कि निर्वाचन आयोग का उद्देश्य है कि सभी मतदाताओं का नाम मतदाता सूची में अवश्य दर्ज हो. इसलिए समस्त संबंधित अधिकारी/कर्मचारी अपना कार्य मेहनत एवं पूर्ण निष्ठा के साथ करें.

WATCH LIVE TV

 

Trending news