उत्‍तराखंड के CM त्रिवेंद्र सिंह रावत ने स्‍वतंत्रता दिवस पर प्रदेश के विकास की बात कही

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी हैं.

उत्‍तराखंड के CM त्रिवेंद्र सिंह रावत ने स्‍वतंत्रता दिवस पर प्रदेश के विकास की बात कही
फाइल फोटो

देहरादून : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी हैं. देहरादून स्थित परेड मैदान में सीएम ने ध्वजारोहण किया और परेड की सलामी ली. इस मौके पर उन्‍होंने राज्य की नौकरशाही को 'टीम उत्‍तराखंड' बनकर काम करने की अपील की. सीएम त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि उत्‍तराखंड वीरों की भूमि है. यहां के जवान देश की सुरक्षा के सवाल पर अग्रिम पंक्ति में खडे हैं.

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आयुष्मान भारत योजना को गरीबों के लिए एक वरदान योजना करार दिया. सीएम ने पीएम का आभार जताया कि केंद्र ने ऐसी योजना गरीबों के लिए चलाई है. सीएम त्रिवेंद्र रावत ने कहा है कि राज्य में भी मेडिसिटी बनाई जाएगी और भविष्य में कोशिश रहेगी कि यहां ऑर्गन ट्रांसप्लांट से लेकर आधुनिक तकनीकी से सर्जरी हो सके. सीएम ने कहा कि राज्य के 27 लाख परिवारों को इससे लाभ होगा.

पलायन से खाली हुए राज्य के 700 से अधिक गांव को सरकार फिर से बसाएगी. सरकार इन गांव को पुनर्जीवित करेगी और इसके लिए सरकार की योजना ऐसे गांव को अधिग्रहण करने की है. सीएम रावत का कहना है कि सरकार ऐसे गांव की जमीन का अधिग्रहण कर वहां इन्वेस्टर्स के सहयोग से विभिन्न क्षेत्रों में निवेश को प्रोत्साहित करेगी जैसे योगा, पर्यावरण, वेलनेस.

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राज्य के स्कूलों में घटती छात्रसंख्या को गंभीर बताते हुए चिंता जाहिर की है. पहली बार खुले मंच से अपनी नाराजगी और चिंता जाहिर करते हुए सीएम ने कहा कि फोकस शिक्षकों की बजाए पहले छात्रों पर होना चाहिए. सीएम ने कहा कि सरकारी स्कूल रोजगार का केन्द्र बन गए हैं, जबकि सरकार इन्हें शिक्षा का केंद्र बनाना चाहती है. हडताल की धमकियां दे रहे या अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे शिक्षकों, शिक्षामित्रों को सीएम ने दो टूक शब्दों में कहा कि सरकार उत्‍तराखंड को हड़ताली प्रदेश नहीं बनने देगी.