सोनिया गांधी पर FIR से तिलमिलाई कांग्रेस, उत्तराखंड के अलग-अलग जिले में दिया धरना

नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि सरकार विपक्ष को कुचलना चाहती है. सरकार तानाशाही कर रही है.

सोनिया गांधी पर FIR से तिलमिलाई कांग्रेस, उत्तराखंड के अलग-अलग जिले में दिया धरना

देहरादून: PM केयर फंड को लेकर एक पोस्ट के बाद सोनिया गांधी पर दर्ज किए गए मुकदमे का उत्तराखंड में कांग्रेसियों ने जमकर विरोध किया. अलग-अलग जिलों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कांग्रेस नेताओं ने धरना दिया. कांग्रेसियों ने एक सुर में सोनिया गांधी के खिलाफ दर्ज मुकदमे को वापस लेने और PM केयर फंड की जानकारी सार्वजनिक करने की मांग की.

देहरादून में जहां पीसीसी चीफ प्रीतम सिंह ने पार्टी मुख्यालय पर धरना दिया, तो वहीं हल्द्वानी में इंदिरा हृदयेश ने मोर्चा संभाला. वरिष्ठ कांग्रेसी नेता गोविंद सिंह कुंजवाल ने कार्यकर्ताओं के साथ अल्मोड़ा में सरकार के खिलाफ नारेबाजी की.

ये भी पढ़ें: प्रवासियों की घर वापसी के साथ बढ़े कोरोना के मरीज, उत्तराखंड में आकंड़ा 300 के करीब

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि बदले की भावना से सरकार को काम नहीं करना चाहिए, पीएम केयर फंड की धनराशि के बारे में पूछने पर पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ धरने पर बैठी नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि सरकार विपक्ष को कुचलना चाहती है. सरकार तानाशाही कर रही है. नेता प्रतिपक्ष ने पूछा कि आखिर प्रधानमंत्री केयर फंड को क्यों सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है.

उधर, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष रहे गोविंद सिंह कुंजवाल ने कहा कि बीजेपी सरकार जो विपक्ष के साथ बर्ताव कर रही है वो अशोभनीय है. लोकतांत्रिक देश में जनता के पैसों का हिसाब-किताब देना सरकार की जिम्मेदारी है. केंद्र सरकार जनता द्वारा दिए गए फंड को सार्वजनिक करने की मांग से बौखला गई है.

(इनपुट: देहरादून से राम अनुज, हल्द्वानी से विनोद कांडपाल, अल्मोड़ा से देवंद्र बिष्ट)