हनी सिंह के गाने बजाकर खेतों से भगाए रहे हैं जंगली सूअर

उत्तर भारत के कुछ गांवों में जंगली जानवरों को खेतों से दूर रखने के लिए हनी सिंह के गानों की मदद ली जा रही है। गांववाले पॉप स्टार के गानों को लाउडस्पीकर पर तेज आवाज में बजाकर जंगली सूअर और अन्‍य जंगली जानवरों को डराकर इन्‍हें खेतों से दूर रखने की कोशिश कर रहे हैं।

हनी सिंह के गाने बजाकर खेतों से भगाए रहे हैं जंगली सूअर

नैनीताल : उत्तर भारत के कुछ गांवों में जंगली जानवरों को खेतों से दूर रखने के लिए हनी सिंह के गानों की मदद ली जा रही है। गांववाले पॉप स्टार के गानों को लाउडस्पीकर पर तेज आवाज में बजाकर जंगली सूअर और अन्‍य जंगली जानवरों को डराकर इन्‍हें खेतों से दूर रखने की कोशिश कर रहे हैं।

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, उत्तराखंड के नैनीताल के खेतों में जंगली जानवरों का आतंक फैला हुआ है। राज्य सरकार की ओर से इससे निपटने के लिए कई कदम भी उठाए गए लेकिन कोई फायदा नहीं मिला। आखिरकार इससे परेशान होकर किसानों ने एक अनोखा हल निकाला।

सुनने में थोड़ा अजीब लगे लेकिन ये किसानों के वरदान साबित हो रहा है। जी हां, नैनीताल के किसान हनी सिंह और पंजाबी गायकों के गाने फुल साउंड में चला रहे हैं। इन गानों से न केवल जंगली सूअर बल्कि दूसरे जानवर भी उनके खेतों में नहीं आते है। नैनीताल के धारी गांव के किसान बिशान जंतवाल ने लाउडस्पीकर लगाकर अपनी टमाटर की खेती को जंगली जानवरों से बचाने में सफल रहा है। इसके बाद आस-पास के कई गांववालों ने इस तरकीब को काम लिया तो उनके लिए भी सफल साबित रही। कुछ ही समय यह आइडिया पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बन गया।

उत्तराखंड के नैनीताल में इसकी शुरुआत तब हुई जब जंगली सुअर गांववालों की खेतिहर जमीनों में अक्सर आने लगे। नैनीताल के ताड़ीखेत ब्लॉक के एक दूसरे किसान संग्राम बिष्ट का कहना है कि यह तरीका पूरे इलाके में हिट हो गया है। जंटवाल ने आगे बताया कि गांववाले पार्टी सॉन्ग से इतर तेज आवाज में म्यूजिकल नोट्स और धुनें भी बजाते हैं। जंगली सुअरों को भगाने के लिए भजन भी बजाए जाते हैं। ये सभी गाने सियारों और नीलगायों पर भी असर करते हैं। कई गांववालों ने खेतों में लाउडस्पीकर लगा दिए।