उत्तराखंड: सरकार की लापरवाही और टीकों की किल्लत से जूझ रहा प्रदेश- अमित जोशी,आप उपाध्यक्ष

आप प्रदेश उपाध्यक्ष ने कहा कि कभी टीकों की कमी तो कभी टीकाकरण केंद्र पर लापरवाही समेत केंद्र बंद करने के हालत के चलते लाखों लोग अभी भी कोरोना के टीकाकरण का इंतजार कर रहे हैं.

उत्तराखंड: सरकार की लापरवाही और टीकों की किल्लत से जूझ रहा प्रदेश- अमित जोशी,आप उपाध्यक्ष
अमित जोशी,आप उपाध्यक्ष (फाइल फोटो)

देहरादून: मुख्यमंत्री के 18 साल से नीचे के बच्चों पर टीकाकरण के बयान को लेकर आम आदमी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष अमित जोशी ने मुख्यमंत्री पर जमकर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में तेजी से बढते कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर सरकार और उनका सिस्टम पूरी तरह से फेल हो चुकी है. चाहे प्रदेश में 18 से 44 की उम्र के लोग हों ,या 45 से उपर की आयु वर्ग के लोग हों सभी सरकार के टीकाकरण सिस्टम को लेकर दर दर भटकने को मजबूर हैं 

उन्होंने आगे कहा कि कभी टीकों की कमी तो कभी टीकाकरण केंद्र पर लापरवाही समेत केंद्र बंद करने के हालत के चलते लाखों लोग अभी भी कोरोना के टीकाकरण का इंतजार कर रहे हैं. ऐसे में सीएम द्वारा 18 वर्ष से नीचे के लोगों का टीकाकरण के बयान पर सवाल खड़ा होता है.आप उपाध्यक्ष ने कहा सरकार अपने ढीले सिस्टम को लेकर पहले ही बैकफुट पर है ऐसे में नए सीएम द्वारा नए टीकाकरण के बयान पर सवाल खड़े होते हैं. 

अमित जोशी ने कहा कि आज उत्तराखंड के हालात बेहद गंभीर हो चुके हैं. कोरोना महामारी जहां पहले मैदानी इलाकों तक सीमित थी. वहीं, अब ये महामारी पहाडों में तेजी से अपने पैर पसार रही है. लेकिन पहाडी इलाकों में स्वास्थय सुविधाओं के अभाव से आज लोगों की जान जा रही लेकिन, सरकार ना लोगों की जान बचा पा रही है और ना ही कोरोना से बचाव के लिए लगने वाली वैक्सीनेशन को आम लोगों तक पहुंचा पा रही.

आप उपाध्यक्ष ने कहा सरकार पूरी तरह कोरोना के रोकथाम और वैक्सीनेशन को लेकर फेल हो चुकी है ऐसे में सीएम द्वारा 18 वर्ष से कम उम्र के युवकों-युवतियों के वैक्सीनेशन पर सवाल खड़े होते हैं.

आप उपाध्यक्ष ने सीएम से सवाल पूछते हुए कहा, सीएम को नए टीकाकरण से पहले पहले जनता को ये बताना चाहिए. पहले जो टीके लगाने निर्धारित किए गए थे उनमें से कितने लोगों को सरकार अभी तक टीके लगा पाई है और जो लापरवाही और टीकों की कमी प्रदेश में हो रही जिसका खामियाजा उत्तराखंड की जनता भुगत रही उसका जिम्मेदार कौन है.

आप उपाध्यक्ष ने कहा कि, हाईकोर्ट भी बार-बार सरकार की लापरवाही पर सरकार को फटकार लगा चुकी है. जो सरकार की लापरवाही समेत कथनी और करनी का फर्क बताती है और जिस तरीके से उत्तराखंड में  टीकाकरण की रफ्तार चल रही उस हिसाब से वर्षों लग जाएंगे सभी के टीकाकरण में जो कि सीधे तौर पर सरकार के सिस्टम के साथ उत्तराखंड की जनता के साथ सीधे तौर पर धोखा है.

आप उपाध्यक्ष ने सरकार से मांग करते हुए कहा, जल्द से जल्द सरकार सभी वर्गों के टीकाकरण के लिए सुनियोजित और सही सिस्टम बनाए ताकि कोरोना की इस महामारी में उत्तराखंड के हर वर्ग के लोग फायदा उठा सके और बढ़ते संक्रमण पर भी रोक लग सके.  इसके अलावा आप उपाध्यक्ष ने कहा, पहले 18 वर्ष और 44 वर्ष से उपर के टीकाकरण की सुनियोजित व्यवस्था की जाय और उसके साथ 18 वर्ष से नीचे के टीकाकरण पर ध्यान दिया जाए ताकि समाज के हर वर्ग को कोरो ना जैसी महामारी से बचाया जा सके.

WATCH LIVE TV