close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उत्तराखंड: महंगी बिजली का 'करंट', बिजली की दरों में 9% की बढ़ोतरी

नई दरें 1 अक्टूबर से लागू होंगी. बिजली की बढ़ी दरों से पावर कॉरपोरेशन को सालाना 239 करोड़ रुपए अतिरिक्त मिलेगा. नई दरों के बाद उद्योगों को मिलने वाली बिजली भी महंगी हुई है. घरेलू बिजली 39 पैसे प्रति यूनिट तक महंगी है. 

उत्तराखंड: महंगी बिजली का 'करंट', बिजली की दरों में 9% की बढ़ोतरी
उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग ने प्रस्ताव पर मुहर लगाई है.

देहरादून: उत्तराखंड (Uttarakhand) में बिजली उपभोक्ताओं (Electricity Consumers) को झटका लगा है. सरकार ने बिजली की दरों (Electricity Rates) में 9 फीसद की बढ़ोतरी के साथ लोगों को झटका दिया है, जहां घरेलू बिजली 9 पैसे प्रति यूनिट तक महंगी हुई है, वहीं दुकानदारों को 53 पैसे प्रति यूनिट महंगी बिजली मिलेगी जबकि उद्योगों को मिलने वाली बिजली भी महंगी हुई है. 

जानकारी के मुताबिक, नई दरें 1 अक्टूबर से लागू होंगी. बिजली की बढ़ी दरों से पावर कॉरपोरेशन को सालाना 239 करोड़ रुपए अतिरिक्त मिलेगा. नई दरों के बाद उद्योगों को मिलने वाली बिजली भी महंगी हुई है. घरेलू बिजली 39 पैसे प्रति यूनिट तक महंगी है. उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग ने प्रस्ताव पर मुहर लगाई है.

कर्मचारियों के वेतन भत्तों में बढ़ोतरी और तमाम लाभ दिए जाने के बाद पावर कॉरपोरेशन के लाभ में लगातार कमी दर्ज की जा रही थी. इसकी भरपाई के लिए ही उपभोक्ताओं की जेब पर डाका डाला गया है. 

उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग यूपीसीएल की पिटीशन पर सुनवाई के बाद बिजली दरों को बढ़ाने के मंथन में जुटा था. आपको बता दें कि यूपीसीएल ने अपना घाटा पाटने के लिए सभी श्रेणियों की विद्युत दरों में औसतन 8.99 प्रतिशत की बढ़ोतरी की मांग की थी. 

लाइव टीवी देखें

राज्य गठन के बाद ऐसा पहली बार हुआ है, जब बिजली की दरों में वृद्धि वित्तीय वर्ष के मध्य में फैसला लिया गया है.