close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

उत्तराखंड पंचायत चुनावः मतगणना जारी, जानिए कहां किसने दर्ज की जीत

उत्तराखंड पंचायत चुनाव (Uttarakhand Panchayat Elections 2019) के लिए तीन चरणों में हुए मतदान के बाद आज इसका परिणाम आ जाएगा.

उत्तराखंड पंचायत चुनावः मतगणना जारी, जानिए कहां किसने दर्ज की जीत

देहरादूनः उत्तराखंड पंचायत चुनाव (Uttarakhand Panchayat Elections 2019) के लिए तीन चरणों में हुए मतदान  में किस्मत आजमा रहे 33882 प्रत्याशियों के भाग्य का पिटारा खुलना शुरू हो गया है. मतों की गिनती सुबह आठ बजे से शुरू हो चुकी है. सबसे पहले ग्राम प्रधान और ग्राम पंचायत सदस्य पदों के नतीजे आएंगे. जिसमें देहरादून में कुड़ियाल से महेश कुकरेती, बागेश्वर के गरुड़ ग्राम जिनखोल मंजू देवी, देहरादून के सिंधवाल गांव से प्रदीप ने जीत दर्ज कर ली है.

उत्तराखंड पंचायत चुनाव में अबतक 4053 ग्राम प्रधानों के चुनाव नतीजे घोषित हो चुके हैं. साथ ही क्षेत्र पंचायत सदस्य के 1510 नतीजे भी आ चुके हैं. अभी तक जिला पंचायत सदस्य के 45 नतीजों का ऐलान हो चुका है. देहरादून के रायपुर विकासखंड से जिला पंचायत सीट 24 द्रोणद्वारा से कांग्रेस समर्थित उम्मीदवार अश्वनी बहुगुणा जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीते हैं. अश्वनी बहुगुणा कांग्रेसी नेता प्रभुलाल बहुगुणा के बेटे हैं.

हल्द्वानी में सबसे कम उम्र की प्रत्याशी पंचायत चुनाव जीती. रागिनी आर्या ने साइकोलॉजी विषय से इसी साल ग्रेजुएशन किया है. वह 21 साल एक माह में ग्राम प्रधान का चुनाव जीती हैं. उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को  383 मतों से हराया. वहीं, हलद्वानी में कांग्रेस और बीजेपी को बड़ा झटका लगा है. गौलापार चोरगलिया जिला पंचायत सीट से कांग्रेस समर्थित प्रत्याशी की हार हुई है. यहां निर्दलीय निवेदिता जोशी ने जीत दर्ज की है. उन्होंने 1000 से ज्यादा मतों से जीत दर्ज की है.

टिहरी में अभी तक 9 ब्लॉकों में 52 ग्राम प्रधानों ने जीत हासिल की है. 8 क्षेत्र पंचायत सदस्य भी जीत दर्ज कर चुके हैं. जिला पंचायत सदस्यों के परिणामों के लिए अभी इंतजार करना होगा. 

युवा भी पंचायतों में बढ़ चढ़कर अपनी भागेदारी निभाने के लिए आगे आ रहे है और चुनाव जीतकर आगे निकल रहे हैं.  युवाओं का मानना है कि अगर युवा पंचायत में आते हैं तो गांव के विकास का एक नया मॉडल सामने आएगा. एक युवा सोच के साथ गांव के विकास के लिए एक नया विजन दिखेगा. कुड़ियाल गांव से प्रधान पद के लिए निर्वाचित  महेश कुकरेती का कहना है कि युवाओं के आगे आने से पंचायतों के विकास की एक नई सोच दिखेगी. वहीं तलाई गांव से निर्वाचित प्रधान संगीता कहती हैं कि महिलाओं के पंचायत में आने से वो और अधिक शसक्त और मजबूत होंगी. 25 साल की उम्र में प्रधान निर्वाचित शिवानी कहती हैं उन्हें बेहद खुशी है कि उन्हें जनता के लिए काम करने का मौका मिल रहा है.

देखें LIVE TV

इसके लिए सोमसवार सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती शुरू हो जाएगी. राज्य के 89 ब्लॉक मुख्यालय में इन वोटों की गिनती होगी और अंतिम परिणाम आने तक मतगणना जारी रहेगी. मतगणना के लिए अतिरिक्त कर्मचारियों की तैनाती की गई है. मिली जानकारी के मुताबिक, वोटों की गिनती CCTV की निगरानी में की जाएगी.

कमलेश तिवारी केस: आरोपी अशफाक, मोईनुद्दीन पर 2.50 लाख का ईनाम घोषित

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिये बागेश्वर में मतगणना का काम सुबह 8 बजे से शुरू हो गया. प्रेक्षक की मौजूदगी में मतपेटियां कपकोट, गरूड़ और बागेश्वर तीनों विकासखंड मुख्यालय में बने काउंटिंग हॉल में पहुंचाईं. मतगणना में 480 मतगणना अधिकारियों की ड्यूटी लगायी गयी है.

दिल्ली के बाद यूपी में भी इमरजेंसी नंबर होगा '112', 26 अक्टूबर से शुरू होगी सुविधा 

संभावना जताई जा रही है कि प्रदेश के छोटे जिलों में देर शाम तक मतगणना प्रक्रिया संपन्न हो सकती है, लेकिन बड़े जिलों में मतगणना दूसरे दिन तक भी जारी रह सकती है. राज्य निर्वाचन अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक, मतगणना के लिए पर्यवेक्षकों को उनकी जिम्मेदारी संभालने के आदेश जारी किए जा चुके हैं.

कमलेश तिवारी हत्याकांड के बाद साध्वी प्राची ने मांगी सुरक्षा, कहा- मेरी भी हो सकती है हत्या

आयोग ने स्पष्ट किया है कि, अगर किसी मतदाता ने बैलेट पेपर गलत बॉक्स में डाल दिया है, तो उनकी भी गिनती की जाएगी. आपको बता दें कि पंचायत चुनाव के दौरान आयोग ने दो मत पेटियां रखी थीं, जिनमें से एक प्रधान और पंचायत सदस्य और दूसरी पेटी बीडीसी और जिला पंचायत के लिए थी. ऐसे में कई बार मतदाता गलती से गलत पेटी में मतपत्र डाल देते हैं, जिसके चलते आयोग ने स्पष्ट तौर पर कहा है, जो मतपत्र गलत पेटी में चले गए हैं, उनकी भी गिनती मतगणना के दौरान की जाएगी.