उत्तराखंड: वासुकीताल से त्रियुगीनारायण ट्रैकिंग रूट पर लापता हुए चारों ट्रैकर्स से संपर्क हुआ

उत्तराखंड में केदारनाथ दर्शन के बाद वासुकीताल से त्रियुगीनारायण ट्रैकिंग रूट पर लापता 4 ट्रैकर्स का पता लगा लिया गया है. प्रशासन का संपर्क उनसे हो गया है. त्रियुगीनारायण ट्रैक पर लापता हुए चारों ट्रैकर्स सुरक्षित हैं. जल्दी ही उन्हें SDRF की टीम वापस लाएगी.

उत्तराखंड: वासुकीताल से त्रियुगीनारायण ट्रैकिंग रूट पर लापता हुए चारों ट्रैकर्स से संपर्क हुआ
प्रतीकात्मक फोटो

उत्तराखंड में केदारनाथ दर्शन के बाद वासुकीताल से त्रियुगीनारायण ट्रैकिंग रूट पर लापता 4 ट्रैकर्स का पता लगा लिया गया है. प्रशासन का संपर्क उनसे हो गया है. त्रियुगीनारायण ट्रैक पर लापता हुए चारों ट्रैकर्स सुरक्षित हैं. जल्दी ही उन्हें SDRF की टीम वापस लाएगी. ट्रैकर्स से संपर्क होने की बात सीएम के दफ्तर को भी बता दी गई है. सीएम त्रिवेंद्र रावत खुद इस मामले का अपडेट ले रहे थे. सीएम कार्यालय की ओर से ट्रैकर्स की तलाश की मॉनिटरिंग की जा रही थी. 

चारों ही ट्रैकर्स केदारनाथ में दर्शन के बाद वासुकीताल से त्रियुगीनारायण ट्रैकिंग रूट पर निकले थे. इनके लापता होने के बाद पुलिस ने रेस्क्यू के लिए तीन टीमें बनाकर एसडीआरएफ के साथ मिलकर वह ड्रोन और हेलीकॉप्टर की मदद से ट्रैकर्स का पता लगाया. चारों ही ट्रैकर्स नैनीताल के बताए जा रहे हैं. ये 12 जुलाई को केदारनाथ के लिए रवाना हुए थे. 13 जुलाई को मंदिर परिसर में बाबा केदार के दर्शन के बाद ये चारों युवक वासुकीताल के लिए रवाना हो गए, जहां से इन्हें त्रियुगीनारायण आना था. लेकिन रास्ते में ही ये लापता हो गए. 

इसे भी पढ़िए: उत्तराखंड BJP का आरोप कोरोना काल में नहीं दिखे राज बब्बर, कांग्रेस बोली- आपके सांसद भी नहीं आते नजर

इसके बाद बुधवार 15 जुलाई को डीडीआरएफ, एसडीआरएफ, पुलिस और तोषी के पांच युवकों की तीन टीमें गठित कर वासुकीताल-त्रियुगीनारायण ट्रैक, गौरीकुंड-खरक-वासुकीताल ट्रैक और तोषी के जंगलों में भेजी गईं. आखिरकार इन ट्रैकर्स से प्रशासन का संपर्क हो गया है और जल्दी ही उनकी वापसी होगी. 

WATCH LIVE TV