बाहर फंसे उत्तराखंड के लोगों के लिए खुशखबरी, घर वापसी के लिए राज्य सरकार ने तेज की मुहिम

परिवहन अधिकारी ने कहा कि 11 मई को 1200 लोगों को बेंगलुरू से ट्रेन से लाया जा सकता है. लोगों को ट्रेन से लाने के लिए 50 लाख रुपये रेलवे के पास एडवांस जमा किए गए हैं. 

बाहर फंसे उत्तराखंड के लोगों के लिए खुशखबरी, घर वापसी के लिए राज्य सरकार ने तेज की मुहिम

देहरादून: दूसरे राज्यों में फंसे उत्तराखंड के लोगों को लाने के लिए राज्य की त्रिवेंद्र सिंह सरकार अभियान में तेजी ला रही है. अभी तक 1 लाख 79 हज़ार के आसपास विभिन्न राज्यों में रह रहे प्रवासियों ने रजिस्ट्रेशन करवा लिया है. इसमें दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, पुणे, केरल, यूपी सहित कई अन्य राज्यों के लोग शामिल हैं. इन सभी को ट्रेन से लाने का पूरा खाका प्रदेश सरकार ने तैयार कर लिया है. 

बेंगलुरू से करीब 1200 लोगों को लेकर 11 मई को ट्रेन वहां से रवाना होगी. इसकी जानकारी सचिव परिवहन ने दी है. सबसे ज्यादा आवेदन दिल्ली, हरियाणा और महाराष्ट्र से आए हैं. परिवहन अधिकारी ने कहा कि 11 मई को 1200 लोगों को बेंगलुरू से ट्रेन से लाया जा सकता है. लोगों को ट्रेन से लाने के लिए 50 लाख रुपये रेलवे के पास एडवांस जमा किए गए हैं. प्रवासी मजदूरों की वापसी के लिए भारतीय रेलवे से 8 ट्रेनों का इंतजाम करने का आग्रह किया गया है.

ऊधमसिंह नगर में मिले कोरोना के 4 नए मरीज, सभी दूसरे राज्यों से उत्तराखंड लौटे थे  

परिवहन सचिव ने कहा कि अभी तक 23,794 प्रवासी प्रदेश में आ चुके हैं. इनमें हरियाणा से 11482, चंडीगढ़ से 4838, उत्तर प्रदेश से 3526 और राजस्थान से 2409 लोगों को बसों से लाया जा चुका है. जबकि दिल्ली से 482, पंजाब से 327, गुजरात से 319 अन्य राज्यों से करीब 411 लोगों की भी घर वापसी हो चुकी है. बाहर से आए ज्यादातर लोग पर्वतीय जिलों के रहने वाले हैं. इन सभी लोगों को क्वॉरंटीन में रहने को कहा गया है. इसकी जिम्मेदारी ग्रामीण क्षेत्रों में प्रधानों को सौंपी गई है.  

उत्तराखंड: मजदूरों की 'घर वापसी' में जुटी त्रिवेंद्र सरकार, रेलवे को दिए 50 लाख एडवांस

देखें लाइव टीवी:-