रूद्रप्रयाग: 22 नवंबर को बंद होंगे द्धितीय केदार भगवान मद्धमहेश्वर के कपाट, इस जगह विराजमान होगी डोली
X

रूद्रप्रयाग: 22 नवंबर को बंद होंगे द्धितीय केदार भगवान मद्धमहेश्वर के कपाट, इस जगह विराजमान होगी डोली

विजय दशमी के पावन पर्व पर उखीमठ के पंचगददीस्थल ओमकारेश्वर में आज ब्रह्ममुहूर्त द्धितीय केदार की कपाट बंद होने की तिथि पूजा पंचाग देखकर निर्धारित की गई. परंपराओं के अनुसार आज के दिन पर द्धितीय केदार के कपाट बंद होने की तिथि निश्चित की जाती है. 

रूद्रप्रयाग: 22 नवंबर को बंद होंगे द्धितीय केदार भगवान मद्धमहेश्वर के कपाट, इस जगह विराजमान होगी डोली

हरेन्द्र नेगी/रूद्रप्रयाग: पंचकेदारों में भगवान द्धितीय केदार मदमहेश्वर के कपाट  22 नवंबर को शीतकाल के लिए बंद हो जायेगें. भगवान मद्धमहेश्वर शीतकाल के लिए पंचगद्धीस्थल ओमकारेश्वर (Omkareshwar) में विराजमान हो जायेगें. 

Dussehra 2021: बुराई पर व‍िजय का पर्व दशहरा आज, पीएम मोदी, सीएम योगी ने देशवासियों को दी शुभकामनाएं

दशहरे पर होती है कपाल बंद होने की तारीख निश्चित
विजय दशमी के पावन पर्व पर उखीमठ के पंचगददीस्थल ओमकारेश्वर में आज ब्रह्ममुहूर्त द्धितीय केदार की कपाट बंद होने की तिथि पूजा पंचाग देखकर निर्धारित की गई. परंपराओं के अनुसार आज के दिन पर द्धितीय केदार के कपाट बंद होने की तिथि निश्चित की जाती है. 

डोली शीतकालीन गद्धीस्थल ओमकारेश्वर में विराजमान होगी
22 नवंबर को डोली अपने ग्रीष्मकालीन मंदिर मदमहेश्वर से चलकर अपने पहले पड़ाव गौड़ार गांव में रात्रि प्रवास करेगी. द्धितीय पड़ाव रॉसी रॉस माई के मंदिर में वहां से चलकर 25 नवंबर केो अपने शीतकालीन गद्धीस्थल ओमकारेश्वर में विराजमान हो जाएगी.
 
होता है उखीमठ में मेले का आयोजन
इस दिन जनपद में एक दिन का अवकाश और उखीमठ में मेला का आयेाजन किया जाता है. जहां पर जिला प्रशासन की ओर से भब्य मेला तथा सांस्कृतिक कार्यकमों का आयोजन किया जाता है.  इस अवसर पर ध्यांडी अपने आराध्य देव के दर्शन के लिए उखीमठ पहंचते हैं और भगवान से सुख समृद्धि की प्रार्थना करते हैं.

दीपावली से पहले वाराणसी आ सकते हैं पीएम मोदी, काशी को देंगे पांच हजार करोड़ की सौगात

WATCH LIVE TV

Trending news