बद्रीनाथ धाम जाने वाले यात्रियों को चमोली प्रशासन ने रास्ते में रोका, 2 दिनों तक नहीं कर सकेंगे दर्शन
X

बद्रीनाथ धाम जाने वाले यात्रियों को चमोली प्रशासन ने रास्ते में रोका, 2 दिनों तक नहीं कर सकेंगे दर्शन

चमोली में बारिश की वजह से घाटी में कड़ाके की ठंड शुरू हो गई है. वहीं, ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर रडांग बैंड के पास मलबा आने से रास्ते पूरी तरह से बंद हो गए हैं.

बद्रीनाथ धाम जाने वाले यात्रियों को चमोली प्रशासन ने रास्ते में रोका, 2 दिनों  तक नहीं कर सकेंगे दर्शन

पुष्कर चौधरी चमोली /चमोली: उत्तराखंड के चमोली जिले में देर रात से लगातार बारिश जारी है. मौसम विभाग (weather department) के अनुसार आने वाले कुछ दिनों लगातार बारिश हो सकती है. बारिश की वजह से बदरीनाथ धाम (Badrinath) में ऊंचाई वाली चोटियों पर हिमपात भी शुरू हो गया है. 

बारिश की वजह से घाटी में कड़ाके की ठंड शुरू हो गई है. वहीं, ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे पर रडांग बैंड के पास मलबा आने से रास्ते पूरी तरह से बंद हो गए हैं. इसपर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Pushkar Singh Dhami) ने ट्वीट कर बताया कि " गृह मंत्री अमित शाह जी ने फोन पर राज्य में भारी बारिश से बचाव हेतु की जा रही तैयारियों के विषय में जानकारी ली एवं केंद्र सरकार द्वारा हर संभव मदद का आश्वासन दिया"

बर्फबारी से तापमान में आई गिरावट
गोपेश्वर, पीपलकोटी, जोशीमठ, पोखरी, देवाल घाट सहित अन्य विकास खंडों में देर रात से लगातार बारिश हो रही है. बारिश को देखते हुए बदरीनाथ की तरफ जाने वाले श्रद्धालुओं को गौचर, कर्णप्रयाग, नंदप्रयाग, चमोली, पीपलकोटी, जोशीमठ और पांडुकेश्वर के होटलों में रोका गया है, जबकि बदरीनाथ धाम पहुंचे यात्री बीती शाम से धाम में ही रुके हुए हैं. बर्फबारी से घाटी में कड़ाके की ठंड शुरू हो गई है. लगातार हो रही बारिश और बर्फीली हवाओं के चलने से बद्रीनाथ धाम सहित नीती ,मलारी घाटी में तापमान में गिरावट आ गई है.

लखनऊ: गोमती नगर एनकाउंटर में क्राइम ब्रांच टीम के 2 सिपाही और एक कांस्टेबल को लगी गोली, एक बदमाश भी घायल

यात्रा पर लगी रोक
आपको बता दें उत्तराखंड में भारी बारिश का दौर जारी है. इसके चलते चमोली प्रशासन की ओर से चारधाम यात्रा पर रोक लगा दी गई है.  ''ब्रेक'' बदरीनाथ धाम में देवदर्शनी पुलिस बैरियर के पास से यात्रियों को पुलिस के द्वारा अपील कर मौसम खुलने तक होटलों में रहने की सलाह देकर वापस लौटाया जा रहा है. इसपर श्रद्धालुओं का कहना है कि प्रशासन ने उन्हें होटल में रुकने को कहा है जब तक भारी बारिश का मौसम बना है तब तक होटल में रुकने के लिए हमें बताया गया है. 

जम्मू-कश्मीर में टारगेट किलिंग के शिकार सागीर अहमद का शव सहारनपुर पहुंचा, बेटियों का रो-रो कर बुरा हाल

एक्टिव मोड में दिखे डीएम
मौसम के अलर्ट को देखते हुए जिलाधिकारी चमोली हिमांशु खुराना ने तुरंत इस पर विचार कर लोगों की सुरक्षा का ख्याल रखते हुए एक्टिव मोड में दिखे. उन्होनें सभी तहसीलों को अलर्ट मोड़ पर रखा है, साथ ही किसी भी समय आपदा की स्थिति में अधिकारियों को मौके पर जाने के निर्देश दिए गए हैं. डीएम ने कहा कि हमने स्कूलों की छुट्टी कर दी है और लोगों से अपील है कि वह जरूरी काम के लिए ही घर से निकलें, साथ ही पर्यटकों को सलाह दी है कि वह अपनी यात्रा 1-2 दिन टाल दें.

CHHATH PUJA VIDEO: बच्चे ने गाया छठी मईया का गीत, आवाज की कायल हुई दुनिया

वहीं, उत्तरकाशी में भी कल रात से तेज बारिश हो रही है जिसके चलते जनपद में रेड अलर्ट घोषित किया गया है. जिलाधिकारी मयूर दीक्षित का कहना है कि मौसम विभाग और शासन की ओर से हमें अलर्ट मोड़ रहने के निर्देश हुए हैं साथ ही हमने सड़क, बिजली ,पानी ,स्वास्थ्य से संबंधित विभागों को अलर्ट रहने की निर्देश दिए है. उन्होंने कहा की गंगोत्री और यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर जहां-जहां पर भी भूस्खलन क्षेत्र है उन स्थानों पर सड़क मार्ग से जुड़े विभागों को पर्याप्त मशीनरी रखने के निर्देश दिए गए हैं.

WATCH LIVE TV

Trending news