डॉ. कफील के मामले में UP सरकार ने दाखिल किया जवाब, 24 को HC करेगा अंतिम सुनवाई

नागरिकता संशोशन कानून (CAA) और एनआरसी के विरोध में भड़काऊ भाषण देने को लेकर डॉ. कफील पर लगाए गए NSA को 3 बार बढ़ाया जा चुका है.

डॉ. कफील के मामले में UP सरकार ने दाखिल किया जवाब, 24 को HC करेगा अंतिम सुनवाई
कफील अहमद मामले में सुप्रीम कोर्ट ने HC को 26 अगस्त तक फैसला सुनाने के लिए कहा है.

मो. गुफरान/प्रयागराज: अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) में भड़काऊ भाषण देने के आरोपी डॉ. कफील पर लगे राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के मामला में बुधवार को सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. जहां उत्तर प्रदेश सरकार ने अपना जवाब दाखिल किया.

चीफ जस्टिस गोविंद माथुर और जस्टिस समित गोपाल की डिवीजन बेंच के सामने अलीगढ़ के जिलाधिकारी और मथुरा जेल अधीक्षक ने भी आज हलफनामा दाखिल किया. इस दौरान डॉ. कफील के वकीलों ने भी अपनी दलील डिवीजन बेंच के सामने रखी. जिसके बाद अब 24 अगस्त को कोर्ट अंतिम सुनवाई करेगा.

ये भी पढ़ें: बिकरू हत्याकांड: विकास दुबे के खजांची जय बाजपेयी पर शिकंजा, फरार भाइयों पर 25-25 हजार का इनाम

बता दें कि नागरिकता संशोशन कानून (CAA) और एनआरसी के विरोध में भड़काऊ भाषण देने को लेकर डॉ. कफील पर लगाए गए NSA को 3 बार बढ़ाया जा चुका है. जिस पर डॉ. कफील की मां नुजहत परवीन ने बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका (Habeas corpus) दाखिल की है. वहीं सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट को 26 अगस्त तक फैसला सुनाने के लिए कहा है.

कौन हैं डॉ. कफील खान
डॉक्टर कफील खान अगस्त 2017 में गोरखपुर मेडिकल कॉलेज के मामले के बाद चर्चा में आए थे. यहां ऑक्सीजन की कमी के चलते बड़ी संख्या में बच्चों की मौत हो गई थी. उस वक्त संबंधित वॉर्ड के नोडल ऑफिसर रहे कफील खान को लापरवाही बरतने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया था. हालांकि, बाद में इस मामले में उन्हें रिहा कर दिया गया था.

WATCH LIVE TV: