उत्तराखंड: जहरीली शराब के कारण हुई मौत पर राज्य सरकार हुई सख्त, लिया ये फैसला

सरकार इसी विधानसभा बजट सत्र के दौरान एक विधेयक लाने जा रही है. 

उत्तराखंड: जहरीली शराब के कारण हुई मौत पर राज्य सरकार हुई सख्त, लिया ये फैसला
कठोर कानून बनाने के लिए सरकार जरूरी पहल कर रही है. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: जहरीली शराब कांड के मामले में उत्तराखंड सरकार ने कठोर कार्रवाई करने का फैसला किया है. इस मामले पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उच्च स्तरीय जांच के लिए आईजी स्तर के अधिकारी के नेतृत्व में एसआईटी टीम के गठन का फैसला लिया है. 

इस संबंध में मीडिया से बातचीत में रावत ने कहा है कि सरकार इसी विधानसभा बजट सत्र के दौरान एक विधेयक लाने जा रही है. इस विधेयक में जहरीली शराब के मामलों पर कठोर कानून बनाने के लिए राज्य सरकार जरूरी पहल करेगी. 

उन्होंने कहा, ''राज्य सरकार इस तरह के विधेयक लाकर जहरीली शराब बनाने वाले या अवैध शराब की तस्करी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने पर विचार कर रही है.'' 

उन्होंने कहा, ''राज्य में जिस तरह से मासूम बच्चियों के साथ होने वाले अपराध के बारे में कड़े कानून का प्रावधान किया गया है. उसी तरह से शराब तस्करों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए भी जल्द कानून बनाया जाएगा. इसके अलावा राज्य सरकार ने इस पूरे मामले को काफी गंभीरता के साथ लेते हुए एक आयोग के गठन का निर्णय लिया है. जो जहरीली शराब संबंधी मामलों की मामलों की मॉनिटरिंग करेगी.''

आपको बता दें कि, उत्‍तर प्रदेश और उत्‍तराखंड में जहरीली शराब पीने के कारण रविवार (10 फरवरी) की सुबह तक रुड़की, सहारनपुर और कुशीनगर में 88 लोग जहरीली शराब के कारण अपनी जान गंवा चुके हैं. इनमें रुड़की में 31 लोगों की मौत हुई है. वहीं सहारनपुर में 46 और कुशीनगर में 11 लोगों की मौत हुई है. इस संबंध में यूपी और उत्तराखंड में करीब 33 एफआईआर दर्ज हो चुकी हैं.