पिता के लिए दवा लेने गया था युवक, बंद क्रॉसिंग से पार कराना चाहता था बाइक, तेज रफ्तार ट्रेन की चपेट में

शिवम अपने दो भाइयों में सबसे बड़ा था और लखनऊ के बाबू बनारसी दास कॉलेज से इंजीनियरिंग की थर्ड ईयर की पढ़ाई कर रहा था. कोरोना के चलते वह घर पर ही था. लोगों का कहना है कि वह एक होनहार स्टूडेंट था.

पिता के लिए दवा लेने गया था युवक, बंद क्रॉसिंग से पार कराना चाहता था बाइक, तेज रफ्तार ट्रेन की चपेट में

संतोष जायसवाल/चंदौली: वाराणसी से सटे चंदौली में एक दिल दहलाने वाला हादसा सामने आया है. यहां के सैयदराजा नगर के उत्तरी बाजार में रेलवे गेट बना है, जिसे पार करते हुए एक बाइक सवार 20 साल का युवक अपने पिता के लिए दवा लेने जा रहा था. लेकिन उसी समय तेज रफ्तार से आती हु्र ट्रेन ने बाइक के परखच्चे उड़ा दिए. युवक की मौके पर ही मौत हो गई.

हजरतगंज, कैसरबाग, आलमबाग... जिन चौक-चौराहों से आज जाना जाता है लखनऊ, क्या जानते हैं कैसे पड़े उनके नाम?

बंद रेलवे क्रॉसिंग पार करना चाहता था शिवम
मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है और आगे की कार्रवाई में जुटी है. बता दें, स्थानीय थाना क्षेत्र के परेवा गांव निवासी बरसाती चौबे का पुत्र 20 साल का शिवम चौबे अपनी प्लेटिना बाइक से दवा के लिए सैयदराजा बाजार में जा रहा था कि अप लाइन से जा रही पुरुषोत्तम एक्सप्रेस के चपेट में गया. बताया जा रहा है कि बाइक के ट्रेन में फंस जाने की वजह से शिवम कई मीटर घसीटता हुआ चला गया और कुछ समय बाद, जब बाइक के परखच्चे उड़ तो वह गिर गया. आसपास के लोगों ने वहां भीड़ लगा दी. उन्हीं में से किसी ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद पुलिस ने शव को अस्पताल भेज दिया.

सपने देखने में जीवन का इतना समय बिता देते हैं हम, खबर पढ़ आप भी चौंक जाएंगे

लखनऊ के कॉलेज से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था शिवम
शिवम अपने दो भाइयों में सबसे बड़ा था और लखनऊ के बाबू बनारसी दास कॉलेज से इंजीनियरिंग की थर्ड ईयर की पढ़ाई कर रहा था. कोरोना के चलते वह घर पर ही था. लोगों का कहना है कि वह एक होनहार स्टूडेंट था. वह सामान लेकर वापस जाते समय रेलवे क्रॉसिंग पर पहुंचा तो गेट बंद था. क्रॉसिंग बंद होने के कारण वह बगल से निकलने की कोशिश करने लगा. इसी बीच पुरी से दिल्ली जा रही पुरुषोत्तम एक्सप्रेस तेजी से गुजरी और शिवम की बाइक को जोरदार टक्कर मारी.

WATCH LIVE TV