सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी साल 1897 में उड़ीसा के कटक शहर में हुआ था.

साल 2021 के बाद से नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पराक्रम दिवस के रूप में मनाया जाता है.

नेताजी के नारों ने आजादी की जंग में जोश पैदा किया. तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा...जय हिन्द...

सुभाष चंद्र बोस ने आजादी की जंग में शामिल होने के लिए भारतीय सिविल सेवा की नौकरी भी ठुकरा दिया थी

गांधीजी को राष्ट्रपिता कहकर नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने ही संबोधित किया था.