गलत करने वाले देश छोड़कर भागेंगे या फिर जेल जाएंगे : नरेंद्र मोदी

मोदी ने कहा कि कुछ लोग ऐसे भी हैं जो उद्योगपतियों को चोर और लुटेरा कहते हैं. 

गलत करने वाले देश छोड़कर भागेंगे या फिर जेल जाएंगे : नरेंद्र मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को उत्तर प्रदेश में 60 हजार करोड़ रुपये की 81 परियोजनाओं की नींव रखी.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जो लोग गलत काम करेंगे वे या तो देश छोड़कर भागेंगे या फिर जेल जाने के लिए मजबूर हो जाएंगे. प्रधानमंत्री ने योगी सरकार की सराहना करते हुए कहा कि राज्य सरकार के काम की यदि यही गति रही तो जल्द ही प्रदेश में एक लाख करोड़ रुपये के निवेश का काम भी पूरा होगा. लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले यह दस्तूर था कि लोग उद्योगपतियों से पर्दे के पीछे मिला करते थे लेकिन जिनकी नीयत सही और साफ होती है, वे सबके सामने मिलते हैं. 

प्रधानमंत्री ने कहा, "यह किसी से छिपा नहीं है कि बहुत से लोग उद्योगपतियों से सार्वजनिक तौर पर नहीं मिलते हैं. इससे उनको घबराहट होती है. वे पर्दे के पीछे मिलते हैं, क्योंकि उनकी नीयत साफ नहीं होती है. लेकिन जिनकी नीयत साफ होती है, वे सबके सामने मिलते हैं."

मोदी ने कहा कि कुछ लोग ऐसे भी हैं जो उद्योगपतियों को चोर और लुटेरा कहते हैं. आज उद्योगपतियों को सार्वजनिक तौर पर अपमानित करने का काम किया जा रहा है. जबकि, देश को आगे ले जाने के लिए सभी का साथ और सबके सहयोग की अपेक्षा होती है. इसे ही सबका साथ और सबका विकास कहते हैं. 

प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 60 हजार करोड़ रुपये की परियाजनाओं का शिलान्यास किया गया है. इससे दो लाख से अधिक लोगों को प्रत्यक्ष तौर पर लाभ मिलेगा लेकिन यह उद्योग इकाइयां जहां-जहां लगेंगी, वहां अप्रत्यक्ष तौर पर भी लोगों को रोजगार मिलेगा. मोदी ने अपना चुनावी वादा याद दिलाते हुए कहा, "उत्तर प्रदेश की 22 करोड़ जनता से मैंने चुनाव में वादा किया था कि विधानसभा चुनाव में जो प्यार आपने दिया है वह मैं सूद समेत लौटाऊंगा और 60 हजार करोड़ रुपये की योजनाओं का धरातल पर उतरना उसी प्रयास का हिस्सा है."

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को उत्तर प्रदेश में 60 हजार करोड़ रुपये की 81 परियोजनाओं की नींव रखी. इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार की जमकर सराहना करते हुए कहा कि सरकार ने राज्य में निवेश लाने के लिए पिछले छह महीने में जिस तरह से काम किया है उसके बाद इस ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी को रिकॉर्ड ब्रेकिंग सेरेमनी कहना सही होगा. 

उन्होंने कहा कि यदि मन में किसी काम को पूरा करने की प्रतिबद्घता हो तो रास्ते अपने आप खुल जाते हैं. योगी सरकार ने अपनी लगन और समर्पण से यह मुकाम हासिल किया है. मोदी ने मंत्री सतीश महाना के बयान पर चुटकी लेते हुए कहा, "सतीश महाना जी अपने संबोधन के दौरान बहुत संकोच भाव से यह कह रहे थे कि उत्तर प्रदेश में 60 हजार करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास हो रहा है. हो सकता है उनकी भूख ज्यादा हो लेकिन यह एक बड़ी उपलब्धि है. उनको और उनकी टीम को अहसास नहीं है कि आज उत्तर प्रदेश ही नहीं देश के लिए कितना बड़ा काम हुआ है." 

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं इस तरह के कार्यक्रम को करता रहा हूं और इस दौरान निवेश लाने के लिए किन-किन तरह की चुनौतियों से गुजरना पड़ता है, यह सब मालूम है. दूसरी ओर राजनीतिक दलों के लोग भी रास्ते में रोड़ा अटकाने का काम करते हैं लेकिन यह एक अविश्वसनीय उपलब्धि है. 

प्रधानमंत्री ने कहा कि सबसे बड़ी बात यह है कि इस निवेश के दौरान राज्य में विकास के असुंतलन को दूर करने का प्रयास किया गया है. यह सही है कि सिर्फ नोएडा और गाजियाबाद के विकास से पूरे उत्तर प्रदेश का विकास नहीं हो सकता है. उद्योग की इकाईयों को हर कोने में स्थापित करना होगा. यही काम योगी सरकार ने किया है. इसके लिए मुख्यमंत्री बधाई के पात्र हैं.