शर्मनाक...मोमबत्ती में 'डिलीवरी', यूपी के हेल्थ सिस्टम में 'अंधेर'

मामला सीएमओ डॉ.एसपी सिंह के संज्ञान आने के बाद वो भी जांच की बात कह रहे हैं.

शर्मनाक...मोमबत्ती में 'डिलीवरी', यूपी के हेल्थ सिस्टम में 'अंधेर'
अधिकारी ने बताया कि अस्पताल में जनरेटर की व्यवस्था है.

नई दिल्ली/सोनभद्र: उत्तर प्रदेश सरकार के लाख दावों के बाद भी यूपी में स्वास्थ्य सुविधाएं सुधरने का नाम नहीं ले रही है. लापरवाह अधिकारियों और कर्मचारियों के आगे सोनभद्र में ये दावे दम तोड़ जाते हैं. जिले की म्योरपुर सीएचसी में इलाज की जो तस्वीरें सामने आईं वो बेहद हैरान करने वाली हैं. म्योरपुर सीएचसी में बिजली जाने के बाद वहां मरीजों का इलाज मोमबत्ती की रोशनी में किया जाता है. हैरानी तब हुई जब एक महिला का प्रसव मोमबत्ती की रोशनी में करा दिया गया.

woman give birth a child in Candle light at hospital in Sonbhadra

मामला सीएमओ डॉ.एसपी सिंह के संज्ञान आने के बाद वो भी जांच की बात कह रहे हैं. अधिकारी का कहना है कि म्योरपुर सीएचसी में जनरेटर की व्यवस्था है, इसके बावजूद भी अगर अस्पताल परिसर में जनरेटर ने चलाया गया, तो ये घोर लापरवाही का मामला है. उन्होंने बताया कि जेनरेटर की व्यवस्था है और इसकी व्यवस्था के लिए पैसा भी जाता है. 

woman give birth a child in Candle light at hospital in Sonbhadra

वहीं, अंधेरे में प्रसव कराए जाने पर सोनभद्र के सीएमओ डॉ.एसपी सिंह का कहना है कि प्रसव अंधेरे में कराना घोर लापरवाही है. इस मामले में जांच की जाएगी और आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई भी की जाएगी. वहीं, अस्पताल में मौजूद मरीजों का कहना है कि कई बार कहने के बाद भी सीएचसी में मौजूद कर्मचारियों के कानों में जूं नहीं रेंगी. सीएचसी में हुई इस लापरवाही के बाद कार्रवाई की बात कही जा रही है, लेकिन, सवाल ये है कि अगर महिला के साथ कोई अनहोनी हो जाती, तो इसका जिम्मेदार कौन होता.