शादी को हुए थे सिर्फ तीन महीने, दहेज की मांग नहीं हुई पूरी तो कर दी विवाहिता की हत्या

जेवर के पुलिस उपाधीक्षक शरद चंद शर्मा ने बताया कि पीड़िता के पिता जुल्फीकार ने थाना रबूपुरा में सोमवार रात इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई. 

 शादी को हुए थे सिर्फ तीन महीने, दहेज की मांग नहीं हुई पूरी तो कर दी विवाहिता की हत्या
प्रतीकात्मक तस्वीर

नोएडा: नोएडा जिले के थाना रबूपुरा क्षेत्र के मेहंदीपुर गांव में एक विवाहिता के ससुराल वालों ने कथित तौर पर दहेज की मांग पूरी न होने पर उसकी हत्या कर दी. पुलिस ने यह जानकारी दी. जेवर के पुलिस उपाधीक्षक शरद चंद शर्मा ने बताया कि पीड़िता के पिता जुल्फीकार ने थाना रबूपुरा में सोमवार रात इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई. 

शिकायत में उसने आरोप लगाया है कि दहेज की मांग पूरी नहीं होने के कारण उसकी बेटी हुस्न बानो के ससुराल वालों ने उसकी हत्या कर दी. जुल्फीकार ने बानो के पति मुजाहिद, देवर मुशाहिद, ससुर आबिद और सास आमना आदि पर हत्या के आरोप लगाये हैं.

उन्होंने बताया कि सोमवार शाम हुस्न बानो का शव पंखे के फंदे से लटका मिला था. आरोप है कि शादी के समय से ही दहेज के लिये ससुराल वाले पीड़िता का उत्पीड़न कर रहे थे. महिला की शादी तीन महीने पहले हुई थी. उन्होंने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है. इस मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई.

आपको बता दें कि इससे पहले जनवरी माह में भी ग्रेनो वेस्ट स्थित इटेड़ा गांव में कथित रूप से दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर एक विवाहिता की हत्या का मामला सामने आया था. मूलरूप से नोएडा के सर्फाबाद निवासी राहुल ने बताया कि उनकी बहन भारती की शादी 5 साल पहले इटेड़ा गांव के नानक के बेटे रविंद्र से हुई थी. शादी में सेंट्रो कार, 25 तोला सोना, ढाई लाख नकद, घरेलू सामान आदि वर पक्ष को दिया गया था.  आरोप है कि शादी के बाद से लगातार ससुराल पक्ष के लोग भारती को दहेज के लिए परेशान करने लगे. कई बार दहेज को लेकर ससुराल पक्ष के लोगों ने उनकी बहन के साथ मारपीट भी की थ.  इस मामले में कई बार पंचायत कर फैसला भी हुआ. 

आरोप है कि रविवार (20 जनवरी) को दहेज की मांग को लेकर ससुराल पक्ष के लोगों ने उनकी बहन भारती के साथ मारपीट की, जिसमें उसकी मौत हो गई. राहुल ने बताया कि उसके बाद ससुराल पक्ष के लोग उनकी बहन के शव को इटेड़ा गोलचक्कर के समीप फेंक कर भाग रहे थे, तभी मायके पक्ष के लोग मौके पर पहुंच गए. इस मामले में मृतक के परिजनों ने 8 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया था.