close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बागपत में उफनती यमुना, खतरे में हजारों लोगों की जान, पुलिस-प्रशासन अलर्ट पर

बागपत  में यमुना नदी ऊफान पर है, जिसकी वजह से 40 गांव के लोगों को सुरक्षित जगहों पर जाने का निर्देश दिया गया है.

बागपत में उफनती यमुना, खतरे में हजारों लोगों की जान, पुलिस-प्रशासन अलर्ट पर
(प्रतीकात्मक फोटो).

बागपत:  पिछले कई दिनों से हो रही लगातार बारिश के चलते यमुना नदी में छोड़े गए 6 लाख क्यूसेक पानी के बाद यमुना में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. बाढ़ के मद्देनजर बागपत के प्रशासनिक अधिकारियों ने 40 गांव के लोगों को यमुना किनारे नहीं जाने की चेतावनी दी है. आसपास के सभी पुलिस चौकियों के लिए प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है. पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे इस बात का ध्यान रखें कि लोग यमुना के किनारे ना जाएं और आसपास ना रहें. नदी के ज्यादा नजदीक रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगहों पर जाने को कहा गया है.

पिछले कई दिनों से लगातार बारिश से तबाही मची हुई है. कहीं मकान ढह रहे हैं तो कहीं सड़कें धंस रही हैं. पहाड़ी इलाकों में भारी बारिश के चलते हथनी कुंड बैराज से 6 लाख क्यूसेक पानी छोड़ने के बाद बागपत में यमुना नदी खतरे के निशान पर बह रही है.

खतरे के मार्ग पर कांवड़ियां, शामली में यूपी-हरियाणा को मिलाने वाले पुल में दरारें

यमुना नदी के खतरे के निशान के ऊपर बहने के चलते लोगों में दहशत का माहौल है. हजारों लोग जो यमुना के किनारे रहते हैं वे सुरक्षित जगहों पर जाने के लिए मजबूर हो गए हैं. बारिश रूकने का नाम नहीं ले रही है, जिसकी वजह से हालात और ज्यादा बिगड़ गए हैं. मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश में अगले 24 घंटों में भारी बारिश की संभावना जताई है.