बिगड़ती कानून-व्यवस्था पर योगी का एक्शन, 67 IPS अधिकारियों के तबादले

बिगड़ती कानून-व्यवस्था पर योगी का एक्शन, 67 IPS अधिकारियों के तबादले
बिगड़ती कानून-व्यवस्था पर योगी का एक्शन, 67 IPS अधिकारियों के तबादले (फाइल फोटो)

लखनउः राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर जारी विपक्ष के हमलों के बीच आज यूपी सरकार ने पुलिस महकमे में बड़ा फेरबदल करते हुए 67 आईपीएस अधिकारियों के तबादले कर दिये. माना जा रहा है कि यह फेरबदल राज्य के कुछ हिस्सों में अपराध बढने की खबरों के परिप्रेक्ष्य में हुआ है. राज्य विधानसभा के चल रहे सत्र में विपक्ष लगातार सरकार को इस मुद्दे पर घेर रहा है. आपको बता देंं कि आज के तबादलों के साथ ही योगी आदित्यनाथ सरकार ने सत्ता संभालने के बाद से अब तक लगभग 200 आईपीएस अधिकारियों का स्थानांतरण किया है.

योगी सरकार के दो महीने पूरे, कानून-व्यवस्था बनी बड़ी चुनौती

अपर पुलिस महानिदेशक (पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड) एस एन सावत को इलाहाबाद जोन का एडीजी नियुक्त किया गया है. तबादला सूची में बरेली, इलाहाबाद, झांसी, हमीरपुर, बागपत, ललितपुर, महाराजगंज और एटा जैसे जिलों में तैनाती शामिल हैं. इन जिलों में जिन अधिकारियों की तैनाती की गयी है, वे पुलिस अधीक्षक से लेकर पुलिस उपमहानिरीक्षक स्तर के हैं. इस कदम को पुलिस तंत्र मजबूत करने के प्रयास के रूप में देखा जा रहा है. विधानसभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कल कहा था कि अपराधियों को राजनीतिक संरक्षण नहीं हासिल होगा.

राजनीतिक संरक्षण में अपराध करने की किसी को अनुमति नहीं होगी: योगी आदित्यनाथ

विपक्ष लगातार सरकार पर आरोप लगा रहा है कि कानून व्यवस्था की स्थिति अत्यंत खराब हो गयी है. योगी ने कहा, ‘‘जहां तक कानून व्यवस्था का प्रश्न है, जाति, मत और मजहब के आधार पर किसी के साथ भेदभाव नहीं किया जाएगा. मामलों को निपटाने के लिए समयसीमा तय की गयी है.’’  मुख्यमंत्री ने कहा कि अपराध और अपराधियों के प्रति ‘जीरो टालरेंस’ :जरा भी बर्दाश्त नहीं करने: की नीति अपनायी जाएगी.