योगी आदित्यनाथ बोले, 'राम मंदिर निर्माण का विवाद हल होने में नहीं लगेंगे 24 घंटे से ज्यादा'

सीएम योगी ने हाल ही में कहा था कि राममंदिर का निर्माण बिल्कुल 'उसी स्थान' पर किया जाएगा जहां भगवान का जन्म होना माना जाता है और इस संबंध में कोई भ्रम नहीं होना चाहिए.

योगी आदित्यनाथ बोले, 'राम मंदिर निर्माण का विवाद हल होने में नहीं लगेंगे 24 घंटे से ज्यादा'
योगी आदित्यानाथ ने कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा है कि जहां रामलला विराजमान हैं, वहीं राम जन्मभूमि है.

लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) से पहले अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बार फिर से इस मुद्दे का हवा दे दी है. सीएम योगी ने सोमवार को कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा है कि जहां रामलला विराजमान हैं, वहीं राम जन्मभूमि है. उन्होंने कहा कि मेरा ये मानना है कि इस पर विवाद तो हाईकोर्ट में ही खत्म हो चुका है. बंटवारे का तो विवाद ही नहीं है. उन्होंने कहा कि विवाद केवल यह तय होने को लेकर था कि ये राम जन्मभूमि है या नहीं.

विवाद का हल पहले ही हो चुका है- सीएम योगी
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब ये तय हो चुका है तो इस विवाद का समाधान करने में मुझे लगता है कि 24 घंटे से 25वां घंटा लगना ही नहीं चाहिए. गौरतलब है कि सीएम योगी ने हाल ही में कहा था कि राममंदिर का निर्माण बिल्कुल 'उसी स्थान' पर किया जाएगा जहां भगवान का जन्म होना माना जाता है और इस संबंध में कोई भ्रम नहीं होना चाहिए.

योगी आदित्यनाथ ने अपनी सरकार द्वारा शहरों के नाम बदलने के विवादास्पद कदम के बारे में कहा था कि भगवान राम के जन्मस्थान आने वाले तीर्थयात्री अब अयोध्या आते हैं, फैजाबाद जिले नहीं आते और जो चल रहे कुंभ में आते हैं वे प्रयागराज आते हैं, इलाहाबाद नहीं.

 

 

कुंभ ने देशभर को दिया स्वच्छता का संदेश
वहीं, वृन्दावन के अक्षय पात्र फाउण्डेशन के कार्यक्रम में सीएम योगी ने कहा कि सदियों से सामाजिक, सांस्कृतिक, धार्मिक दिशा का संदेश देने वाला प्रयागराज कुंभ इस बार स्वच्छता का संदेश देने का एक बहुत बड़ा माध्यम बन गया है जिसकी दुनिया भर में तारीफ की जा रही है. उन्होंने कहा, 'प्रयागराज में कुंभ का आयोजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में किया जा रहा है. कुंभ इतना भव्य और दिव्य है कि विदेशों तक में तारीफ की जा रही है. स्वच्छ कुंभ का संदेश प्रयागराज से जा रहा है.' 

यूनेस्को ने कुंभ को घोषित किया सांस्कृतिक धरोहर
मुख्यमंत्री ने कहा, ''यूनेस्को ने कुंभ को मानवता की मूर्त सांस्कृतिक धरोहर के रूप में मान्यता दी है. सरकार ने इस बार जिस प्रकार के इंतजाम वहां किए हैं वे सभी को बहुत पसंद आए हैं. जिनसे इतना बड़ा आयोजन किए जाने के बाद भी कोई अव्यवस्था नहीं पैदा हुई.'' मुख्यमंत्री ने अक्षय पात्र फाउण्डेशन के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा, 'राज्य के प्राथमिक और उच्चतर स्कूलों में 1 करोड़ 77 लाख बच्चे पढ़ रहे हैं, जिनमें से 17 लाख से अधिक बच्चों को अक्षय पात्र फाउण्डेशन द्वारा मिड-डे-मील दिया जा रहा है.'